देहरादून (ब्यूरो)। आरटीओ इंस्पेक्टर की पत्नी ने एसएसपी को बताया कि डकैतों ने नोएडा में पढ़ने वाले बेटे को जान से मारने की धमकी दी थी, जिसके डर से वे चुप रहे। अब बदमाश पकड़े गए तो हिम्मत कर उनके खिलाफ 5 लाख कैश और 20 लाख ज्वैलरी ले जाने की कंप्लेन की है। हालांकि पुलिस को डकैतों ने 1.28 करोड़ रुपये ले जाना कबूल किया था। ऐसे में एसएसपी ने तहरीर तो ले ली लेकिन एसपी सिटी को सही फैक्ट्स का पता लगाने के बाद एफआईआर करने के निर्देश दिए हैं।

आरटीओ इंस्पेक्टर की वाइफ ने दी तहरीर

वसंत विहार इलाके में बीती 26 मई की रात परिवहन विभाग के आरआई के दो मंजिला घर में घुसे डकैतों ने हथियार दिखाकर लूटपाट की थी। घर में इंस्पेक्टर और उनकी वाइफ थे। बदमाशों ने उनको नोएडा में पढ़ने वाले बेटे की हत्या की धमकी देकर पुलिस कंप्लेन नहीं करने के लिए डराया था। इसके बाद दंपति ने अपने बेटे को नोएडा से घर बुला लिया था। आरपी ईश्वरन के घर डकैती की वारदात में सभी बदमाशों के पकड़े जाने और एक और डकैती की वारदात कबूल करने के बाद पुलिस के लगातार दबाव के चलते संडे को विजय पार्क निवासी आरआई की वाइफ रमा सिंहल ने राजपुर रोड स्थित एसएसपी के कैम्प ऑफिस पहुंचकर कंप्लेन दी।

घटना एक नजर में

- ईश्वरन के घर डकैती के आरोपियों के खिलाफ दूसरी वारदात की तहरीर

- आरआई की वाइफ ने एसएसपी के कैंप ऑफिस पहुंच कर सुनाई दास्तान

- बेटे की हत्या की धमकी से डर गए थे दंपति, बदमाशों के पकड़े जाने पर आई हिम्मत

- 22 सितंबर- को राजपुर थाना इलाके में आरपी ईश्वरन के घर हुई थी डकैती

- 1 अक्टूबर- को बदमाश पकड़े, तो वसंत विहार में दूसरी वारदात भी कबूली

- 6 अक्टूबर- बदमाशों को रिमांड लिया, दूसरी वारदात के संबंध में भी कंप्लेन

डकैतों ने उगले 1.28 करोड़, पीड़ित ने बताए 25 लाख

डकैतों से पूछताछ में आरआई के घर से गैंग ने 1.28 करोड़ रुपये का कैश और ज्वैलरी ले जाने का खुलासा हुआ था। जबकि आरटीओ इंस्पेक्टर की बैंक ऑफिसर वाइफ ने डकैतों द्वारा घर से 5 लाख रुपये कैश और करीब 20 लाख की ज्वैलरी ले जाने की कंप्लेन की है। ऐसे में पुलिस अब इस बात का पता लगाने में जुटी है कि असल में वारदात कितने की थी। अगर 1.28 करोड़ की थी तो पीड़ित परिवार ने कंप्लेन में रकम कम क्यों लिखी। दूसरी तरफ अगर रकम कम ही थी तो डकैतों ने ज्यादा क्यों बताई। पहले इस बात का पता लगाया जाएगा, फिर एफआईआर दर्ज की जाएगी।

एक इनवेस्टिगेशन, दो-दो खुलासे

दून पुलिस के साथ पिछले दिनों में यह दूसरी दफा है, जब एक केस की जांच में दूसरा खुलासा हुआ है। 22 सितंबर की रात अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के संचालक आरपी ईश्वरन के घर डकैती के खुलासे में बदमाशों ने 26 मई की रात वसंत विहार के विजय पार्क 1.28 करोड़ की दूसरी डकैती भी कबूली। इससे पहले कामना मर्डर केस की जांच में 9 माह पहले रिंकू मर्डर केस का भी खुलासा हुआ था।

दिल्ली में हथियार और डीवीआर की तलाश

डकैती मामले में वीरेंद्र ठाकुर उर्फ डीआईजी और उसके गिरोह के 5 अन्य बदमाशों को लेकर दून पुलिस की टीम दिल्ली गई है। बदमाशों से इन वारदातों में यूज किए गए हथियार और  ईश्वरन के घर के सीसीटीवी की डीवीआर बरामदगी का प्रयास किया जा रहा है।

अब तक 6 बदमाश गिरफ्तार

आरपी ईश्वरन के घर डकैती मामले में पुलिस ने अब तक 6 बदमाशों को पकड़ चुकी है। इनमें रिश्वत के आरोप में बर्खास्तशुदा बीएसएफ का डिप्टी कमांडेंट वीरेन्द्र सिंह ठाकुर उर्फ डीआईजी, क्रिकेट खिलाड़ी अदनान, सैलून चलाने वाला रहमान उर्फ पिरू उसके साथी फुरकान, बेकरी का काम करने वाले हैदर और ज्वैलरी का काम करने वाला अरशद को गिरफ्तार कर उनको रिमांड पर हथियार बदमदगी के प्रयास किए जा रहे हैं। दो अन्य की अभी तलाश है।

dehradun@inext.co.in

Posted By: Inextlive

Crime News inextlive from Crime News Desk