बगदाद (एएफपी)इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास स्थित सैन्य अड्डे को निशाना बनाकर रविवार को कई रॉकेट दागे गए। हालांकि, इससे किसी प्रकार के जनहानि की खबर नहीं है। इस सैन्य अड्डे में गठबंधन सेनाओं के सैनिक रहते हैं। इनमें से अधिकांश अमेरिकी हैं। पिछले साल अक्टूबर से लेकर अब तक अमेरिकी सैन्य अड्डों और दूतावास को निशाना बनाकर कई हमले किए गए हैं। इस कड़ी में रविवार का हमला 19वां था। अभी तक किसी भी संगठन ने इनकी जिम्मेदारी नहीं ली है। गठबंधन सेना के प्रवक्ता माइल्स केगिन्स के मुताबिक, इस सैन्य अड्डे को यूनियन-3 के नाम से जाना जाता है।

अमेरिका ने कट्टरपंथियों को ठहराया दोषी

यह अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन सेनाओं का मुख्यालय है। इस पर छोटे रॉकेट से हमला किया गया है। इराक की सेना ने कहा कि तीन कत्यूश रॉकेट ग्रीन जोन के अंदर आए। ग्रीन जोन वह हाई सिक्योरिटी इलाका है, जहां अमेरिकी दूतावास और यूनियन-3 स्थित है। इस इलाके में इराक सरकार की कई इमारतें, संयुक्त राष्ट्र संघ के कार्यालय और अन्य दूतावास स्थित हैं। चौथा रॉकेट एक लॉजिस्टिक बेस को निशाना बनाकर दागा गया। वाशिंगटन ने सेना के अंदर मौजूद कट्टरपंथियों को अमेरिकी प्रतिष्ठानों पर हमला करने का दोषी ठहराया है। इससे तनाव बढ़ने के आसार हैंं।

हमले को लेकर चल रही है जांच

वहीं, बग़दाद में रहने वाले अमेरिकी अधिकारी कर्नल मायल्स कोग्गिंस ने कहा कि इस हमले से किसी को नुकसान नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, 'सैन्य ठिकाने पर बाहरी सैनिकों को निशाना बनाते हुए रॉकेट से हमला किया गए है। इससे कोई हताहत नहीं हुआ है और इसको लेकर जांच चल रही है।'

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk