जैन धर्म में इस व्रत का अत्‍यधिक महत्‍व है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु व घर में सुख शांति की कामना के साथ व्रत रखती हैं। प्रत्‍येक वर्ष में 12 रोहिणी व्रत होते हैं, जिस दिन सूर्योदय के बाद रोहिणी नक्षत्र पड़ता है उस दिन यह व्रत किया जाता है। इसका पारण रोहिणी नक्षत्र के समाप्‍त होने के बाद मार्गशीर्ष नक्षत्र में करते हैं।

आइए जानते हैं कि इस वर्ष फरवरी से लेकर दिसंबर तक प्रत्‍येक माह में किस दिन रोहिणी व्रत किया जाएगा

4 फरवरी 2020 : इस दिन रोहणी नक्षत्र रात 12 बजकर 52 मिनट से अगले दिन 5 फरवरी को प्रात: 1 बजकर 49 मिनट तक रहेगा।

3 मार्च 2020: रोहिणी नक्षत्र 2 फरवरी को सुबह 8 बजकर 55 मिनट से अगले दिन सुबह 10 बजकर 32 मिनट तक रहेगा।

30 मार्च 2020: रोहिणी नक्षत्र 29 मार्च को दोपहर 3 बजकर 18 मिनट से अगले दिन 30 मार्च को शाम 5 बजकर 18 मिनट तक रहेगा।

26 अप्रैल 2020: रोहिणी नक्षत्र 25 अप्रेल को रात 8 बजकर 58 मिनट से अगले दिन रात 10 बजकर 56 मिनट तक रहेगा।

23 मई 2020: रोहिणी नक्षत्र 22 मई को सुबह 3 बजकर 10 मिनट से अगले दिन 23 मई को सुबह 4 बजकर 52 मिनट तक रहेगा।

20 जून 2020: रोहिणी नक्षत्र 19 जून को सुबह 10 बजकर 32 मिनट से अगले दिन 20 जून को दोपहर 12 बजकर 2 मिनट तक रहेगा।

जुलाई 2020: रोहिणी नक्षत्र 16 जुलाई को सुबह 6 बजकर 54 मिनट से आरंभ होकर अगले दिन 17 जुलाई को 8 बजकर 28 मिनट पर समाप्‍त होगा।

13 अगस्त 2020: रोहिणी नक्षत्र 13 अगस्‍त को सुबह 3 बजकर 28 मिनट से आरंभ होकर अगले दिन 14 अगस्‍त को सुबह 5 बजकर 22 मिनट तक रहेगा।

10 सितंबर 2020: रोहिणी नक्षत्र 9 सितंबर को सुबह 11 बजकर 17 मिनट से आरभं होकर अगले दिन 10 सितंबर को दोपहर 1 बजकर 39 मिनट पर समाप्‍त होगा।

7 अक्टूबर 2020: रोहिणी नक्षत्र 6 अक्‍टूबर को सुबह 5 बजकर 55 मिनट से अगले दिन 7 अक्‍टूबर को 8 बजकर 36 मिनट तक रहेगा।

3 नवंबर 2020: रोहिणी नक्षत्र 2 नवंबर को रात 11 बजकर 51 मिनट से आरंभ होकर 4 नवंबर को रात 2 बजकर 30 मिनट तक रहेगा।

30 नवबंर 2020: रोहिणी नक्षत्र पूर्ण रात्रि तक होगा।

28 दिसंबर 2020: रोहिणी नक्षत्र 27 दिसंबर को दोपहर 1 बजकर 20 मिनट से अगले दिन 28 दिसंबर को दोपहर 3 बजकर 40 मिनट तक रहेगा।

Posted By: Mukul Kumar