नई दिल्ली (पीटीआई)। भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण का कहना है कि दबाव में शांत रहने की क्षमता इंडियन प्रीमियर लीग में कप्तान के रूप में रोहित शर्मा की सफलता का कारण है। 33 साल के रोहित ने अपनी कप्तानी में चार आर मुंबई को आईपीएल चैंपियन बनाया है। वह धोनी से एक कदम आगे हैं क्योंकि माही ने तीन बार सीएसके को खिताब दिलाया है। 45 वर्षीय लक्ष्मण ने याद किया कि डेक्कन चार्जर्स के साथ अपना पहला आईपीएल खेलने के बाद से रोहित एक बल्लेबाज और कप्तान दोनों के रूप में कैसे विकसित हुए।

दबाव में खेलने की आदत

लक्ष्मण ने स्टार स्पोट्र्स के शो 'क्रिकेट कनेक्टेड' को बताया, "वह डेक्कन चार्जर्स टीम में एक नेता बन गया। जब वह पहले वर्ष में आया था, तो वह एक युवा खिलाड़ी था, जिसने टी 20 विश्व कप खेला था। मुझे लगता है कि जिस तरह से वह मध्य क्रम में बल्लेबाजी कर रहा था, दबाव में क्योंकि टीम ने 2008 में आईपीएल के शुरुआती संस्करण में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था। फिर भी रोहित हमारी तरफ से सबसे अच्छा खेला।'

लगातार सफलता की सीढ़ी चढ़ते गए रोहित

आईपीएल इतिहास में सबसे अधिक रन बनाने वालों की सूची में रोहित को तीसरे स्थान पर रखा गया है, जिन्होंने 188 मैचों में 31.60 की औसत से 4898 रन बनाए हैं, जिसमें 109 नाबाद का उच्चतम स्कोर है। लक्ष्मण ने कहा, "प्रत्येक मैच में, प्रत्येक सफलता के साथ, उसका आत्मविश्वास स्तर बढ़ता जा रहा था, वह कोर ग्रुप में शामिल हो रहा था, युवाओं की मदद कर रहा था, उनकी राय और उन शुरुआती संकेतों को देख रहा था।' लक्ष्मण ने कहा, 'लेकिन मेरे लिए, सबसे महत्वपूर्ण रूप से दबाव को कैसे संभालना है क्योंकि एक बार आन उन कठिन परिस्थितियों में बल्लेबाजी करते हैं तो खिलाड़ी और निखर कर आता है। यही कारण है कि वह आईपीएल इतिहास में सबसे सफल कप्तानों में से एक है।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk