कानपुर। हथियारों की दुनिया में रिवॉल्वर की क्या अहमियत है, यह शायद किसी को बताने की जरुरत नहीं है। मोटी, भारी, और छह गोलियों वाली इस रिवॉल्वर का इतिहास बहुत ही पुराना है। बहुत पहले के समय में लोगों के पास बड़ी और भारी बंदूकें हुआ करती थी लेकिन जब से रिवॉल्वर आई सब कुछ एकदम से बदल गया। बताया जाता है कि यह छोटी और असरदार थी। जब भी रिवॉल्वर के इतिहास पर बात होती है तो सैमुअल कोल्ट नाम के एक व्यक्ति का जिक्र जरूर होता है। इन्हें एक समय में अमेरिका में रिवॉल्वर का सबसे बड़ा सौदागर माना जाता था।

बार बार नहीं करनी पड़ती थी गोली लोड
इनसाइक्लोपीडिया ब्रिटेनिका के मुताबिक, आज यानी कि 19 जुलाई को सैमुएल कोल्ट का जन्मदिन है। उनका जन्म 19 जुलाई, 1814 को अमेरिका के हर्डफोर्ड में हुआ था। कोल्ट के पिता शुरू में एक किसान थे लेकिन बाद में एक कपड़ा कारखाने के सफल मालिक बने। बता दें कि कोल्ट ने कभी भी रिवॉल्वर के आविष्कार का दावा नहीं किया लेकिन उसने रिवॉल्वर में छोटा सा घूमने वाला सिलेंडर जरूर जोड़ा था। तब उस सिलेंडर में गोली भरी जाती थी और बार-बार गोली लोड करने की भी जरूरत नहीं पड़ती थी। बाद में इस तरह की रिवॉल्वर को कोल्ट रिवॉल्वर नाम दिया गया।

अमेरिका ने दिया 1000 रिवॉल्वर का ऑर्डर
कोल्ट ने 1836 में पहली बार सिलेंडर वाली रिवॉल्वर का पेटेंट करवाया था। इस रिवॉल्वर की खासियत यह थी कि इसे बार बार लोड नहीं करना होता था और इसमें एक बार में 5 गोलियां भरी जा सकती थी। इसे चलाना बहुत आसान था और इतना ही नहीं इसका निशाना भी सटीक था। उस समय के बाकी हथियारों की तुलना में कोल्ट की रिवॉल्वर बहुत ही ज्यादा अच्छी थी। इसी के चलते धीरे-धीरे लोग इसे पसंद करने लगे। इसकी बिक्री बढ़ गई और कुछ ही समय में कोल्ट बहुत अमीर व्यक्ति बन गया। बताया जाता है कि 1846 में मेक्सिको-अमेरिका के बीच सिविल वॉर के दौरान कोल्ट को खूब फायदा हुआ। इस दौरान अमेरिका ने कोल्ट को 1000 रिवॉल्वर का ऑर्डर दिया था, जिससे पैसों की भरमार हुई और वह और अमीर बना गया।

International News inextlive from World News Desk