सरेंडर के बाद संजय अत्त को मुबई की ऑर्थर रोड जेल में रखे गए संजय दत्त को फाइनली पुणे की यरवदा सेंट्रल जेल में ट्रांसफर कर दिया गया है. पहले बेशक महाराष्ट्र पुलिस का कहना था कि संजू बाबा के लिए सेफ जेल सर्च करने के बाद ही वो उन्हें कहीं और शिफ्ट करेंगे और इस काम के लिए उन्होंने करीब 15 दिन का टाइम भी मांगा था. पर 21 मई 2013 की देर रात ये डिसाइड करके कि उन्हें यरवदा जेल भेज दिया जाए रात ही में उन्हें वहां शिफ्ट कर दिया गया. यरवदा जेल सुजू बाबा के लिए अजनबी नहीं है वे पहले भी दो बार यहां सजा काट चुके हैं पर पहले के मुकाबले एक डिफरेंस जरूर है लास्ट दो बार उनका केस अंडर ट्रायल था पर इस बार वो डिक्लेयर कल्पिट हैं और अपनी सजा पूरी करने आए हैं.

1993 के मुंबई बम बलास्ट् केस में आर्म्स एक्ट के तहत पांच साल की सजा पाए एक्टर संजय दत्त को फिलहाल आर्थर रोड जेल के सेफेस्ट अंडा सेल में ही रखा जाएग. दरअसल, महाराष्ट्र पुलिस अभी डिसाइड नहीं कर पाई है कि संजय को टाइट सिक्योरिटी वाली आर्थर रोड जेल में रखा जाए या किसी अन्य जेल में ट्रांसफर किया जाए. मंडे को पुलिस ने कहा कि इस बारे में डिसाइड करने में अभी 15 दिन लगेंगे. 16 मई को टाडा कोर्ट में सरेंडर करने के बाद दत्त को आर्थर रोड जेल लाया गया था. पुलिस ने बताया कि दत्त रातभर सो नहीं पाते हैं और स्प्रीच्युअल बुक्स पढ़ते हैं.

 

See Also

एडीशनल पुलिस कमिश्नर (जेल) मीरा बोरवांकर ने कहा, ‘दत्त को किसी दूसरी जेल में भेजने का डिसीजन करने में अभी थोड़ा टाइम लगेगा.’ एक दूसरे जेल ऑफीसर ने बताया कि इस बाबत फैसला लेने में 15 दिन का समय लग सकता है. दरअसल, जेल डिपार्टमेंट स्टेट  की तलोजा (नवी मुंबई), यरवदा (पुणे), ठाणे, नागपुर और नाशिक की जेलों में बंद अंडरवल्र्ड से जुड़े प्रिजनर्स, दोषी ठहराए जा चुके कैदियों और सिक्योरिटी कंडीशंस के बारे में इनफार्मेशन कलेक्ट कर रहा है. जेल ऑफीशियल ने बताया कि एडमिनिस्ट्रेशन संजू को ट्रांसफर करने के डिसीजन से पहले सिक्योरिटी सहित डिफरेंट आस्पेक्टस पर विचार कर रहा है.

संजय दत्त को दोषी ठहराते हुए पांच साल कैद की सजा सुनाई गई है. वह डेढ़ साल जेल में गुजार चुके हैं. अब उन्हें साढ़े तीन साल कैद भुगतनी होगी. संजय ने टाडा कोर्ट के सामने अंडा सेल से किसी दूरी बैरक में भेजने की रिक्वेस्ट की है. उन्होंने कहा है कि अंडा सेल में लाइट और एयर का प्रॉपर अरेंजमेंट नहीं होने के कारण उन्हें सफोकेशन हो रहा है. अंडा सेल में नामर्ली सस्पेक्टड टैरेरिस्ट और हार्ड कोर क्रिमिनल्स को रखा जाता है.

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk