छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : घाटशिला के लेदा में प्रस्तावित संताल विश्वविद्यालय (निजी विश्वविद्यालय) की आधारशिला का एक वर्ष सोमवार को पूरा हो गया हैं. इसके खुशी में ट्रस्ट की ओर से घाटशिला में एक प्रेस वार्ता आयोजित कर प्रस्तावित संताल विश्वविद्यालय के अब तक के उपलब्धियों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी हैं. इस बारे में जानकारी देते हुए चैयरमेन ट्रस्टी सूर्य सिंह बेसरा ने बताया की आज ही के दिन 24 दिसंबर 2017 को घाटशिला के लेदा में देश के पहले संताल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी गई थी.

कई उपलब्धियां हासिल

असम विधानसभा के पूर्व स्पीकर पृथ्वी माझी के हाथों ही संताल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी गई थी. साल भर के अंदर ही हमने कई उपलब्धियों को हासिल किया हैं. ट्रस्ट के मेंबर व ग्रामीणों के सहयोग व अथक प्रयास का ही परिणाम हैं की पिछले दिनों उच्च तकनीकी, शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग की टीम ने संताल विश्वविद्यालय के मान्यता हेतु यहां का दौरा किया था. इससे उम्मीद जगी हैं की बहुत जल्द ही संताल विश्वविद्यालय के मान्यता का रास्ता भी प्रशस्त हो जाएगा.

यूनिवर्सिटी के बनेंगे लाइफ मेंबर्स

सूर्य सिंह बेसरा ने बताया की आगे हम संताल विश्वविद्यालय को पब्लिक प्राइवेट पाटर्नरशीप (पीपीपी) मोड में चलाने के लिए पहल करेंगे. इसके लिए हम लाइफ मेंबर बनाने का भी काम शुरू करेंगे. मौके पर शिक्षाविद प्रो. मित्रेश्वर, श्यामचरण मुर्मू, सचिव सीताराम टुडू, गो¨वद टुडू, जिला परिषद देव्यानी मुर्मू, सुरेश चंद्र मुर्मू, सुगदा हांसदा, गणेश हांसदा, शेखर हेम्ब्रम, भीम सोरेन, विक्रम बेसरा, रवींद्र नाथ मुर्मू मौजूद रहे.