-सावन का पहला सोमवार आज, रात से ही लगी मंदिर परिक्षेत्र में हजारों भक्तों की कतार

-असहाय, दिव्यांग सहित बुजुर्गो के लिए नि:शुल्क ई-रिक्शा की सुविधा, सुरक्षाकर्मियों को विशेष हिदायत

varanasi@inext.co.in
VARANASI: श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पाने को रविवार की देर शाम से ही भक्तों का तांता लग गया. ज्ञानवापी से गोदौलिया तक और बांसफाटक से बुलानाला तक भक्तों की कतार रात से ही लगी रही. सोमवार को बाबा को जलाभिषेक करने के लिए शाम से ही कांवरिया जत्था के आने का क्रम जो शुरू हुआ वो पूरी रात जारी रहा.

श्रद्धालुओं से न करें दु‌र्व्यवहार
सिक्योरिटी की परपज से श्रीअग्रसेन कन्या इंटर कॉलेज में एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने सुरक्षाकर्मियों को ब्रीफ किया. हिदायत दी कि श्रद्धालुओं से कोई दु‌र्व्यवहार नहीं होनी चाहिए. शिकायत मिलने पर संबंधित के खिलाफ विभागीय कार्यवाई तक की जाएगी. श्रीकाशी विश्वनाथ न्यास परिषद की ओर से दिव्यांग और बुजुर्ग सहित असहायों के लिए नि:शुल्क ई-रिक्शा की सेवा शुरू की गई है, जो दर्शन के बाद मंजिल तक ड्रॉप भी करेंगे.

सोमवार का टिकट एक हजार
सावन माह में भक्तों को जेब और हल्की करनी पड़ेगी. मंगला आरती का टिकट सामान्य दिनों में पांच सौ से बढ़ाकर सोमवार को एक हजार रुपये में कर दिया गया. मंदिर ट्रस्ट की ओर से इस बार भक्तों की सहूलियत के लिए काफी अच्छे प्रबंध का दावा किया गया है. बाबा के दर्शन को लेकर घंटों इंतजार न करना पड़े इसके लिए दर्शनार्थियों को कतारबद्ध दर्शन कराने को पांच स्थानों से इंट्री देने की व्यवस्था की गई है. दर्शनार्थियों के आने-जाने वाले मार्गो पर रेड कारपेट बिछाया गया है. जगह-जगह प्याऊ, एंबुलेंस, मेडिकल कैंप सहित पर्याप्त पुलिस बल की तैनात की गई है.

चप्पे-चप्पे पर जवान
काशी विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र की सुरक्षा व्यवस्था काफी चाक-चौबंद की गई है. लगभग चार दर्जन से अधिक स्थानों पर चेक प्वॉइंट बनाए गए हैं. जिससे दर्शन को आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानियां न उठानी पड़े. चप्पे-चप्पे पर महिला व पुरूष जवानों की तैनाती की गई है, क्यूआरटी भी मुस्तैद है.

यादव बंधु करेंगे जलाभिषेक
सावन के पहले सोमवार को बाबा विश्वनाथ को जल चढ़ाने को लेकर यादव बंधुओं की जिला प्रशासन संग बैठक हुई. श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर समेत शहर के अन्य प्रमुख शिवालयों में जलाभिषेक करेंगे.