नई दिल्ली (पीटीआई)। Paytm पेटीएम पेमेंट्स बैंक (पीपीबी) ने 3,500 फोन नंबरों की एक सूची तैयार की है। पीपीबी ने यह सूची हाल ही में हाल ही में गृह मंत्रालय (एमएचए), ट्राई और सीईआरटी -इन को साैंपी है। इसमें उपभोक्ताओं को ठगने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले फोन नंबर शामिल हैं।इसके अलावा एसएमएस शॉर्टकोड की एक सूची भी दी है। ये वही फोन नंबर हैं जिनसे काॅल कर व मैसेज कर ग्राहकों को धोखाधड़ी के जाल में फंसाया जाता है। कई बार मिनटों में ग्राहकों के खाते खाली हो जाते हैं।

अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई के लिए एफआईआर भी दर्ज हुई

पीपीबी ने दावा किया कि इस घोटाले को रोकने के लिए साइबर सेल के साथ इन अपराधियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई के लिए एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। ट्राई, गृह मंत्रालय और सीईआरटी-इन के अधिकारियों के साथ मीटिंग की एक सीरीज में पीपीबी ने संवेदनशील सूचनाएं जुटाने व फोन एसएमएस और कॉल स्कैम को समझाया जो डिजिटल भुगतान उपयोगकर्ताओं को प्रभावित करते हैं। सीईआरटी- इन कंप्यूटर सुरक्षा संबंधी मामलों में कार्रवाई करने वाली एजेंसी है।

इस तरह की धोखाधड़ी से लाखों भारतीयों का भरोसा टूट जाता

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने एक बयान में कहा है कि अधिकारियों संग बैठक में कंपनी ने स्पष्ट कर दिया कि इस तरह की धोखाधड़ी से लाखों भारतीयों का भरोसा टूट जाता है। साथ ही यह भी कहा कि पीपीबी जैसे बैंक इन जालसाजों के फोन नंबरों की पहचान कर सकते हैं। वहीं भविष्य में होने वाले धोखाधड़ी और घोटाले को विधि प्रवर्तन एजेंसियों, नियामकों और दूरसंचार आपरेटरों की मदद से रोका जा सकता है।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk