क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : रेलवे का फोकस सिक्योरिटी को हाईटेक बनाने पर है. इस सिलसिले में रांची स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक के एंट्रेंस गेट पर स्कैनर लगाने का काम पूरा हो चुका है. अब बिना जांच के स्टेशन के अंदर घुसना आसान नहीं होगा. इतना ही नहीं, अगर कोई आपत्तिजनक सामान अगर स्टेशन में ले जाना चाहेगा तो स्कैनर में वह तुरंत डिटेक्ट हो जाएगा. पैसेंजर्स की सिक्योरिटी को मद्देनजर साउथ ईस्टर्न रेलवे की ओर से यह कदम उठाया जा रहा है.

हाई रिजॉल्यूशन वाली मशीन से चेकिंग

रांची स्टेशन पर हर दिन दो दर्जन से ज्यादा ट्रेनों का आवागमन होता है. इन ट्रेनों से प्रतिदिन लगभग 25-30 हजार पैसेंजर्स सफर करते हैं. लेकिन, अबे पैसेंजर्स को प्लेटफार्म तक जाने के पहले अपने सभी सामानों की चेकिंग करानी होगी. इसके लिए यहां हाई रिजॉल्यूशन स्कैनर मशीन लगाई झआ चुकी है.

मेटल डिटेक्टर भी होगा चालू

एसपीआरओ सुहास लोहकरे ने बताया कि रांची स्टेशन परिसर में एंट्रेंस के कई रास्ते हैं. वर्तमान में एक मशीन से ही सभी पैसेंजर्स के सामान स्कैन किए जाएंगे. वहीं, मेटल डिटेक्टर भी लगाने की रेलवे की योजना है. इसके बाद पैसेंजर्स ट्रेन में सुरक्षित यात्रा कर सकेंगे. हालांकि पहले से रांची स्टेशन पर दो मेटल डिटेक्टर लगे है, लेकिन आए दिन एक मशीन खराब ही रहता है. अब इसे उठाकर स्कैनर मशीन के पास ही लगा दिया जाएगा.

आरपीएफ को मिली है स्कैनिंग की जिम्मेदारी

आरपीएफ की टीम स्कैनर मशीन का संचालन करेगी, ताकि सस्पेक्टेड सामानों को स्टेशन में इंट्रेंस से पहले ही रोका जा सके. गौरतलब है कि स्टेशन परिसर में सीसीटीवी कैमरा लगे होने के बाद भी सिक्योरिटी में कहीं न कहीं लापरवाही हो जाती है. इसी का फायदा उठाकर लोग शराब व गांजा समेत कई आपत्तिजनक व ज्वलनशील पदार्थ लेकर ट्रेनों में चढ़कर आसानी से सफर कर लेते हैं.

हटिया और मुरी में भी लगेगी स्कैनिंग मशीन

ट्रेन में सुरक्षित यात्रा के लिए रांची स्टेशन पर एक मशीन लगाई जा चुकी है. जल्द ही रांची स्टेशन के अन्य एंट्रेंस पर भी स्कैनर मशीन लगाई जाएगी. इसके बाद रांची डिवीजन के हटिया और मुरी स्टेशन पर भी स्कैनर मशीन को इंस्टाल कर दिया जाएगा.