कानपुर। कर्नाटक विधानसभा उपचुनावों में कांग्रेस की हार के बाद कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया व प्रदेश अध्‍यक्ष दिनेश गुंडू राव ने पराजय की जिम्‍मेदारी लेते हुए अपने पदों से इस्‍तीफा दे दिया है।

लोगों का मानना होगा फैसला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया ने राज्य के उपचुनावों में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के मद्देनजर कर्नाटक में पार्टी के विधायक दल (सीएलपी) के नेता के रूप में इस्तीफा दे दिया है। बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 15 सीटों में से 12 सीटें जीतीं, जिन पर पिछले हफ्ते चुनाव हुए थे। उन्‍होंने सोमवार को परिणाम घोषित होने के बाद कहा कि 'लोकतंत्र में, हमें लोगों के फैसले को मानना होगा। लोगों ने जो तय किया है और हम उसका सम्मान करते हैं। हम उम्मीद कर रहे थे कि अयोग्य घोषित किए गए विधायकों को सबक सिखाया जाएगा, जो कि गलत निकला। इसलिए मैं लोगों के फैसले को स्वीकार करता हूं।' उन्होंने कहा, 'मैंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा दे दिया है और एआईसीसी प्रभारी के सी वेणुगोपाल और केपीसीसी अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव को इसकी एक प्रति भेज दी है।'

दिनेश गुंडू राव ने ली उपचुनावों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की जिम्‍मेदारी

इसके थोड़ी ही देर बाद कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष दिनेश गुंडू राव ने भी उपचुनावों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की जिम्‍मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्‍तीफे की घोषणा कर दी। इस साल जुलाई में 17 कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर विधायकों को विधानसभा की सदस्‍यता के अयोग्य ठहराया गया था। इन विधायकों के अलग होने के चलते जेडीयू-कांग्रेस सरकार को सत्‍ता से बाहर होना पड़ा और बीएस येदियुरप्‍पा के नेतृत्‍व में बीजेपी ने वापस सरकार बना ली थी।&

Karnataka bypoll results 2019: कर्नाटक सरकार पर संकट टला, उपचुनाव के बाद बहुमत के पार पहुंचती दिख रही बीजेपी

मतदाताओं ने दिया आशीर्वाद

चुनाव परिणामों पर अपनी प्रतिक्रिया में कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा ने कहा है कि 'मतदाताओं ने 15 में से 12 सीटों पर हमें आशीर्वाद दिया है। हम पार्टी कार्यकर्ताओं और हमारे नेताओं के प्रयासों के कारण जीते हैं। मैं हमारे राष्ट्रीय नेताओं - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद देना चाहता हूं।' हार स्वीकार करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार ने कहा कि पार्टी को मतदाताओं के जनादेश से सहमत होना होगा।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk