मुंबई (पीटीआई)। 30 शेयरों वाले बीएसई सेंसेक्स 14.23 अंक या 0.04 प्रतिशत की मामूली बढ़त के साथ 38,854.55 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह एनएसई निफ्टी भी 15.20 अंक या 0.13 प्रतिशत की मामूली उछाल के साथ 11,464.45 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स पैक में एसबीआई के शेयर टाॅप गेनर रहे। इसके शेयरों में 2 प्रतिशत से ज्यादा की तेजी देखने को मिली। इसके बाद इस लिस्ट में टीसीएस, टेक महिंद्रा, एचयूएल, बजाज फाइनेंस, कोटक बैंक और टाइटन के शेयर शामिल रहे।

इंडसइंड बैंक टाॅप लूजर लिस्ट में

दूसरी ओर इंडसइंड बैंक, पावरग्रिड, भारती एयरटेल, एशियन पेंट्स और एचडीएफसी बैंक के शेयर नुकसान के साथ बंद हुए। कोटक सिक्योरिटीज के पीसीजी रिसर्च वाइज प्रेसिडेंट संजीव जरबड़े के मुताबिक, कोविड-19 वैक्सीन की बुरी खबर, भारत-चीन तनाव और अमेरिकी शेयरों में बिकवाली को लेकर घरेलू शेयर बाजार में निवेशक सतर्क रहे। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर पिछले पांच महीनों के तनाव को खत्म करने के लिए भारत और चीन के विदेश मंत्री पांच सूत्रीय समाधान पर सहमत हो गए हैं।

बुलबुले पर सवार नहीं शेयर बाजार

इसमें एलएसी से सैनिकों के जमावड़े को जल्द खत्म करने की भी बात शामिल है। जरबड़े ने कहा कि पिछले पांच कारोबारी सत्रों के दौरान विदेशी निवेशकों ने 528 मिलियन डाॅलर के शेयर बेचे हैं। वहीं घरेलू निवेशकों ने भी इस दौरान शेयर बेच कर 109 मिलियन डाॅलर बाजार से निकाल लिए हैं। उनका कहना था कि इसके बावजूद बाजार बुलबुले पर सवार नहीं है। ग्लोबल रुझान खासकर अमेरिकी बाजारों में सुधार देखने को मिल रहा है।

कच्चा तेल 39.92 डाॅलर प्रति बैरल

यही वजह है कि एफआईआई और घरेलू निवेशक बाजार से पैसे निकाल रहे हैं। शंघाई, हांगकांग, टोक्यो और सियोल के बाजार नुकसान के साथ बंद हुए। वहीं यूरोपीय शेयर बाजारों में मिलाजुला रुख रहा। ग्लोबल बाजार में कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का सौदा 0.35 प्रतिशत नीचे 39.92 डाॅलर प्रति बैरल के स्तर पर हुआ। मुद्रा बाजार में अमेरिकी डाॅलर की तुलना में रुपया 7 पैसे कमजोर हुआ। एक डाॅलर की कीमत 73.53 रुपये रही।

Business News inextlive from Business News Desk