- राजपुर पुलिस ने दो कारों में पकड़ा सेक्स रैकेट,

- 7 अभियुक्त गिरफ्तार, 6 लड़कियों को छुड़ाया

देहरादून

इंटरनेट पर मोबाइल नंबर पोस्ट कर देहरादून से मसूरी के बीच देह व्यापार के लिए लड़कियां प्रोवाइड कराने वाले एक सैक्स रैकेट को राजपुर थाना पुलिस ने दबोच लिया. गिरोह के बदमाश दो कारों में छह लड़कियों को लेकर अलग-अलग जगह कस्टमर्स को सप्लाई करने जा रहे थे. पुलिस ने नाकाबंदी कर दो कारों को रूकवाया. जिसमें दो ड्राइवर,चार ब्रोकर और एक कस्टमर के कब्जे से अनैतिक देह व्यापार के लिए लायी गई 6 लड़कियों को रिहा कराया गया. एंट्री ह्यूमन ट्रैफकिंग टीम के सहयोग से इन सभी पर शिंकजा कसा गया. लड़कियों को मुक्त करा मेडिकल के बाद एक सामाजिक संस्था की निगरानी में रखा गया है. जबकि ड्राइवर, ब्रोकर और कस्टमर को कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया.

शहर में ऑन लाइन सैक्स रैकेट की सूचना एसओ राजपुर अशोक राठौड़ को मिली थी. इस पर एसएसपी को अवगत कराया गया, एसएसपी ने गिरोह को ट्रैक कर कार्रवाई के डायरेक्शन दिए. इस पर ट्रेनी पीपीएस ऑफिसर दीपशिखा अग्रवाल की मौजूदगी में राजपुर रोड पर किशनपुर पुलिस चेक पोस्ट पर नाकाबंदी कर चेकिंग शुरू की गई. जाखन की तरफ से आ रही दो कारों की तलाशी ली गई तो उनमें से एक कार में दो और दूसरी में चार लड़कियां के साथ दो ड्राइवर, चार ब्रोकर, और एक कस्टमर को पकड़ा. पूछताछ व मोबाइल चेक करने पर उनके आपस में किए गए व्हाट्सएप मैसेजेज, कैश का आन लाइन ट्रांजेक्शन, एक दूसरे को लड़कियों के फोटो भेजने की पुष्टि हुई.जो लड़कियां कार में मिली, ब्रोकर ने उनके फोटो लोगों को भेज रखे थे. मैसेजेज में उन लड़कियों को देह व्यापार के लिए भेजने के बदले रेट भी तय किए गए थे. इस पर पुलिस टीम को यह कन्फर्म हो गया कि ब्रोकर लड़कियों को टैक्सी नंबर की कारों में देह व्यापार के लिए ही डिलीवर करने जा रहे हैं. ऐसे में सभी को थाने लगाया गया.

दिल्ली से देहरादून में नेटवर्क:

एसओ राजपुर अशोक राठौड़ ने बताया कि गुप्त सूत्रों से सूचना प्राप्त हो रही थी कि कुछ गैंग संगठित रूप से अन्य प्रदेशों की लड़कियों को देहरादून में लाकर उनको अलग अलग होटल-गेस्ट हाउस आदि में रखकर कस्टमर की डिमांड पर उनको उनके स्थान पर ही छोड़कर अवैध अनैतिक देह व्यापार कर रहे हैं. इनका नेटवर्क वर्तमान में दिल्ली से ऑपरेट हो रहा है. इस सूचना के संबंध में एसएसपी को अवगत कराया गया. जिस पर देवभूमि की राजधानी देहरादून में उक्त प्रकार की गतिविधि को महोदय द्वारा गंभीरता से लेते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए थे. डिटेल पता करने पर सामने आया कि कस्टमर्स की डिमांड पर होटल्स व गेस्ट हाउस से गाडि़यों से लड़कियों को छोड़ा जाता है. कुछ लोकल टैक्सी ड्राइवर भी मिले हुए है.राजपुर व मसूरी एरिया में अधिक मूवमेंट है.

नाकाबंदी कर दो कारों में पकड़ा गिरोह:

ट्यूजडे रात पुलिस को सूचना मिली की दो गाडि़यों स्विफ्ट डिजायर व इंडिगो में यह गिरोह लड़कियों को लेकर आ रहे हैं. जो राजपुर या मसूरी जाएंगे. इस सूचना पर पुलिस टीम द्वारा किशनपुर चेक पोस्ट मसूरी डायवर्जन पर बैरियर लगाकर चैकिंग की तो जाखन की और से दो गाडि़यां आती दिखाई दी. जिनको रोककर चेक किया गया तोए पहली गाड़ी टाटा इंडिगो में ड्राइवर सहित 4 लड़के तथा दो लड़कियां मिली तथा दूसरी गाड़ी स्विफ्ट डिजायर में ड्राइवर सहित 3 लड़के व 4 लड़कियां मिली. इनकी जामातलाशी व कार की तलाशी से सेक्स वर्धक कैप्सूल व टेबलेट तथा कंडोम के पैकेट बरामद हुए.

ऑन लाइन चलता है सारा गेम:

पुलिस गिरफ्त में आए सैक्स रैकेट के सदस्यों के मोबाइल चेक किये गए जिसने इनके व्हाट्सएप पर लड़कियों की तस्वीरें तथा उसका रेट आदि दूसरे नंबर पर भेजना तथा लड़की को किस स्थान पर ड्राप करना आदि उसमें लिखा पाया गया. सख्ती से पूछताछ पर लड़कियों ने बताया कि यह सब इनके द्वारा दिल्ली से बुलवाई गयी है. दिल्ली में अमित नाम का व्यक्ति फोन के माध्यम से ही इनको देहरादून में भेजता है. तथा यहां के ब्रोकर इनको कस्टमर तक अनैतिक देह व्यापार हेतु छोड़ते हैं.

नाम पता गिरफ्तार अभियुक्त

......................

1.हबीब अहमद उर्फ सागर निवासी वेस्ट बंगाल

हालिया निवासी कालिका बिहार, बंजारावाला मेन ब्रोकर

2. सोनू कुमार बक्सर बिहार,ब्रोकर

3. राशिद मंसूरपुर,मुजफ्फरनगर,उत्तरप्रदेश

हाल. बद्रीनाथ केदारनाथ सेवा ट्रस्ट, कारगी चौक थाना पटेलनगर, चालक गाड़ी

4. रवि कुमार निवासी शिमला बाईपास,थाना पटेलनगर कस्टमर

5. हरविंदर पाल सिंह निवासी खन्ना मंडी, लुधियाना, पंजाब,ब्रोकर

6. राहुल ठाकुर निवासी साइलोक हउे रोडए पटेलनगरए देहरादून, ब्रोकर

7. रफ ाकत , शास्त्री नगर सीमद्वार, बसंबिहार,देहरादून चालक

मुक्त कराई गई पीडिताओं में 2 पश्चिम बंगाल 2 हरियाणा व 2 दिल्ली की रहने वाली है.

बरामदगी का विवरण

.................

1. 5827 रुपये नगद

2. 12 मोबाइल फोन

3. 12 पैकेट कंडोम

4. 9 शक्तिवर्धक गोलियां

5. एक कार टाटा इंडिगो, एक कार स्विफ्ट डिजायर

मजबूर लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर लाते हैं और वेश्यावृति कराते हैं.

पूछताछ पर पीडि़ताओं द्वारा बताया कि इनमें से कोई 4 माह कोई 8 माह कोई 10 माह से ब्रोकर्स के चक्कर में हैं. दोस्ती करके प्यार के जाल में फ ंसाया और यह कहकर कि हम तुम्हारी नौकरी किसी अच्छी कंपनी में लगवा देंगे अलग अलग शहरों जिसमे दो पीडि़ता वेस्ट बंगाल सेए दो पीडि़ता हरियाणा से तथा दो पीडि़ता दिल्ली से लेकर सभी को दिल्ली में रखा गया था. यहां कुछ दिन रखने के बाद यह कहकर कि दिल्ली में नौकरी मिलना बहुत मुश्किल है. कुछ और काम किया जाए जिससे मोटा पैसा मिले, चूंकि सभी पीडि़ताओं को पैसे की बहुत जरूरत होने के कारण, इनके द्वारा सभी को देह व्यापार के धंधे में उतार दिया गया. तब से ये इनके चंगुल में फ ंसकर काम करने लगी, तथा इनके द्वारा कमाई का 25 प्रतिशत पीडि़ता को और 75 प्रतिशत यह खुद रखते थे. इनको इंटरनेट के माध्यम से अलग-अलग शहरों में भेजा जाने लगा. एक रात्रि के किसी को 4 हजार, किसी को 5 हजार व किसी को 10 हजार तक देह व्यापार के लिए भेजा जाता था. दिल्ली में अमित नाम का व्यक्ति इनको शहर बताता था. और वहीं व्हाट्सएप के माध्यम से कस्टमर का फोन और एड्रेस दे दिया जाता था और ये लड़कियों को वहां छोड़ आते थे. कस्टमर पैसा ऑनलाइन सीधा अमित को पे कर देता था. देहरादून मे अभियुक्त हबीब द्वारा करीब 4 माह पहले निकट शिव मंदिर कारगी चौक पर एक 2 रूम सेट 8000 रुपये प्रति माह किराये पर लिया. लोकल दोनों टैक्सी ड्राइवर्स को अपने साथ पैसों का लालच देकर मिला लिया. अन्य ब्रोकरों को भी यही बुला लिया .तथा इन लड़कियों को भी दिल्ली से बुलाकर अलग-अलग होटल्स व गेस्ट हाउस में रख दिया. अब कस्टमर की डिमांड पर यह लड़कियों को उनके स्थान पर छोड़ने लगे. कल रात्रि को भी इन लड़कियों को अलग-अलग कस्टमर के पास छोड़ने जा रहे थे कि पकड़े गए.