शाहजहांपुर (पीटीआई)। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन पर एक लॉ स्टूडेंट ने दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। उनकी वकील पूजा सिंह ने पीटीआई को बताया कि बीजेपी नेता को उत्तर प्रदेश पुलिस की विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने भारी सुरक्षा के बीच उनके आवास दिव्य धाम से गिरफ्तार किया। अब स्थानीय अदालत ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता स्वामी चिन्मयानंद को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाया गया

गिरफ्तारी के बाद उन्हें सरकारी अस्पताल में मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाया गया। सिंह ने कहा कि एसआईटी ने अरेस्ट मेमो पर चिन्मयानंद के रिश्तेदारों के हस्ताक्षर लिए, लेकिन एफआईआर की एक प्रति सहित किसी भी गिरफ्तारी संबंधी दस्तावेज उन्हें नहीं दिए गए। चूंकि चिन्मयानंद को चिकित्सा जांच के लिए अस्पताल ले जाया गया, मरीजों को कठिन समय का सामना करना पड़ा क्योंकि उन्हें परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी। बताया जा रहा कि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में सुरक्षाकर्मियों को अदालत परिसर और अस्पताल में तैनात किया गया है। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न हो इसके लिए पुलिस अधिकारियों की एक टीम इलाके में गश्त भी कर रही है।

चिन्मयानंद के सपोर्ट में उतरे स्वामी ओम, पीड़ित के पिता ने SIT पर लगाया सबूत लीक करने का आरोप

यह है मामला

24 अगस्त को छात्रा ने वीडियो वायरल कर चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए। फिर लापता हो गई। मामला चर्चा में आने पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया। छात्रा को पुलिस ने राजस्थान से खोज निकाला और सुप्रीम कोर्ट में पेश किया। इसके बाद एसआईटी जांच के आदेश हुए। इस बीच 10 सितंबर को कुछ वीडियो वायरल हुए, जिन्हें चिन्मयानंद व छात्रा से जोड़ा जा रहा है। छात्रा 16 सितंबर को कोर्ट में अपना बयान दर्ज करा चुकी है। इसके बाद चिन्मयानंद की अरेस्टिंग होने की आशंका थी, लेकिन उसी रात उनकी तबीयत बिगड़ गई।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner