PRAYAGRAJ: शाही स्नान के बाद किन्नर अखाड़ा ने अपनी परम्परा के अनुसार देर शाम अमरत्व स्नान किया. इस दौरान किन्नर अखाड़ा के संत अपनी पूरी तैयारीके साथ शिविर से निकले और भारद्वाज घाट पर पहुंचकर अमरत्व स्नान किया. इस मौके पर किन्नर अखाड़ा के संतों के साथ ही बड़ी संख्या में उनके अनुयायी और समर्थक भी मौजूद रहे.

नहीं तोड़ी परम्परा

किन्नर अखाड़ा हमेशा से ही अमरत्व स्नान करता रहा है. ऐसे जूना अखाड़ा में शामिल होने के बाद भी किन्नर अखाड़ा के संतों ने अपनी परम्परा के अनुसार अमरत्व स्नान किया. इस मौके पर किन्नर अखाड़ा प्रमुख आचार्य महामंडलेश्वरर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने बताया कि अखाड़ा अपनी पूरानी परम्पराओं को हमेशा से संजोए रखने में विश्वास रखता है. यही कारण है कि इस बार भी अखाड़ा अपनी परम्परा के अनुरूप शाही स्नान के बाद देर शाम अमरत्व स्नान करने पहुंचा है. उन्होंने बताया कि सनातन धर्म के प्रचार प्रसार के लिए किन्नर अखाड़ा जुटा है. जिससे धर्म परिवर्तन जैसी घटनाओं को रोका जा सके.