नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का मानना है कि, कोविड ​​-19 महामारी के दौरान लोगों का मूड बदलने के लिए आईपीएल कारगर साबित हो सकता है। मूल रूप से 29 मार्च से 24 मई तक आयोजित होने वाले आईपीएल को बीसीसीआई द्वारा भारत में कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया था और बाद में सरकार ने तेजी से फैलने वाली बीमारी को रोकने के लिए तालाबंदी की घोषणा की।

मैच के साथ-साथ सुरक्षा भी जरूरी

धवन ने श्रीलंका के हरफनमौला खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज के साथ एक इंस्टाग्राम चैट के दौरान कहा, "यह बहुत महत्वपूर्ण है कि कुछ खेल पर्यावरण और मनोदशा में सुधार करते हैं। आईपीएल की वापसी होने से इसका व्यापक प्रभाव पड़ेगा। हमें सभी की सुरक्षा का ध्यान रखना होगा, इसलिए हमें बहुत सावधानी बरतने की ज़रूरत है। यदि ऐसा होता है, तो यह वास्तव में हमारे लिए अच्छा होगा क्योंकि यह बहुत सारी सकारात्मकता लाता है।'

बंद दरवाजे के पीछे खेलने का तैयार

अटकलें हैं कि 13 वां आईपीएल अक्टूबर-नवंबर में आयोजित किया जा सकता है अगर ऑस्ट्रेलिया में टी 20 विश्व कप स्थगित कर दिया जाता है। इस पर गब्बर कहते हैं, 'उम्मीद है कि आईपीएल होगा। मैं हमेशा सकारात्मक तरीके से सोचता हूं। टूर्नामेंट आगे बढ़ता है तो यह वास्तव में अच्छा होगा।" दुनिया भर के क्रिकेट बोर्ड खेल को फिर से शुरू करने के तरीकों पर काम कर रहे हैं, जिसमें दर्शकों के बिना बंद दरवाजों के पीछे होने वाले मैच शामिल हैं। धवन ने कहा, "हम एक बड़ी भीड़ के सामने खेलने से चूकने वाले हैं, अगर टूर्नामेंट बंद दरवाजे के पीछे हो जाए। हालांकि फैंस मैच में अलग एनर्जी लाते हैं लेकिन साथ ही, यह एक अवसर होगा क्योंकि हम दो-तीन महीने से अपने घरों पर बैठे हैं।"

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk