कानपुर। 13 अगस्त 1975 को पंजाब के रावलपिंडी में जन्में शोएब अख्तर क्रिकेट जगत के सबसे तेज गेंदबाजों में गिने जाते हैं। शोएब के नाम विश्व क्रिकेट में सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकाॅर्ड है। एक समय था जब अख्तर की गेंदों का सामना करना आसान नहीं होता था। बड़े-बड़े बल्लेबाज भी उनके आगे घुटने टेक देते थे। शोएब ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 1997 में की। अख्तर ने अपना पहला टेस्ट वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। शोएब को पहले मैच में दो विकेट मिले मगर उन्हें असली पहचान दो साल बाद मिली।

किसने खेली थी सबसे तेज गेंद

21वीं सदी की शुरुआत में शोएब अख्तर विश्व क्रिकेट में अपनी धाक बना चुके थे। आग उगलती गेंदों के साथ उनका अग्रेशन, इस तेज गेंदबाज की पहचान बन चुका था। इसी अग्रेशन के साथ अख्तर 2003 वर्ल्डकप खेलने साउथ अफ्रीका गए। इस विश्वकप में अख्तर ने वो कारनामा किया जो इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया। 22 फरवरी 2003 को इंग्लैंड के खिलाफ केपटाउन में खेले गए मैच में अख्तर ने क्रिकेट जगत की सबसे तेज गेंद फेंकी। दरअसल मैच में पाकिस्तान टाॅस हार गया था और उसे पहले गेंदबाजी करनी पड़ी थी। इंग्लैंड की पारी का चौथा ओवर फेंकने शोएब अख्तर आए। ओवर की आखिरी गेंद पर स्ट्राइक पर थे निक नाइट। अख्तर ने ये गेंद 161.3 km/h की स्पीड से फेंकी जिसे नाइट ने लेग साइड की तरफ खेला। हालांकि इस गेंद पर कोई रन तो नहीं बना मगर नाइट क्रिकेट जगत की सबसे तेज गेंद खेलने वाले बल्लेबाज बन चुके थे।
shoaib akhtar birthday : जानें किस बल्लेबाज ने खेली थी शोएब अख्तर की सबसे तेज बाॅल
खराब पैर के साथ खेला था वर्ल्डकप
शोएब अख्तर ने हाल ही में 2003 वर्ल्डकप में भारत बनाम पाकिस्तान मैच से जुड़ा एक रोचक किस्सा सुनाया था। अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर इस मैच से जुड़े कुछ खुलासे किए थे। अख्तर का कहना है यह उनके लिए कभी नहीं भूूलने वाला मैच था जिसमें वो भारत को आसानी से हरा सकते थे मगर उनके 'खराब पैर' ने उनका साथ नहीं दिया। शोएब कहते हैं, मैच से एक दिन पहले उनके बाएं पैर के घुटने में कई इंजेक्शन लगे थे जिसके चलते अगले दिन उनका पैर सुन्न पड़ गया था। सेंचुरियन में हमारा भारत के खिलाफ एक मैच था। मैच वाले दिन हमारी किस्मत अच्छी थी कि टीम ने 273 रन बनाए। हालांकि जब पारी खत्म हुई तो मैंने अपने साथी खिलाड़ियों से कहा कि शायद हम 30-40 रन पीछे रह गए। सभी मेरी बात सुनकर हैरान हुए और कहा कि 273 रन काफी बड़ा स्कोर होता है इसे हम डिफेंड कर लेंगे। मगर मुझे अंदर से लग रहा था कि पिच काफी अच्छी है।'


पैर हो गया था सुन्न
अख्तर आगे कहते हैं, 'खैर हिंदुस्तान की टीम बैटिंग करने आई और गेंद मेरे हाथों में थी। मैं जैसे ही बाॅलिंग करने आगे बढ़ा, मैंने महसूस किया कि मेरे बाएं पैर ने काम करना बंद कर दिया है। एक दिन पहले इंजेक्शन लगने के चलते पैर सुन्न हो चुका था। मेरा दांया पैर तो जमीन पर लग रहा था मगर बाएं पैर का कुछ पता नहीं कि वो कहां जा रहा है। खैर मैंने कोशिश करके गेंदबाजी शुरु की और तब तक भारतीय बल्लेबाजों ने चार्ज लेना शुरु कर दिया। सचिन ने प्वाॅइंट पर मुझे छक्का मारा।' इस मैच में 72 रन देकर सिर्फ एक विकेट लेने वाले अख्तर को आज भी इस बात का पछतावा है कि वो जीता हुआ मैच हार गए। शोएब कहते हैं, 'यह काफी कड़वा अनुभव था क्योंकि हम 1999 और 2003 में भारत को आसानी से हरा सकते थे मगर ऐसा नहीं हो सका।
shoaib akhtar birthday : जानें किस बल्लेबाज ने खेली थी शोएब अख्तर की सबसे तेज बाॅल
अख्तर के नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड
रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर ने अपने 13 साल लंबे इंटरनेशल करियर में कुल 2 बार 160 से ज्यादा की स्पीड से गेंद फेंकी। बता दें अख्तर के अलावा दुनिया का कोई और गेंदबाज इतनी स्पीड से गेंद नहीं फेंक पाया। आपको जानकर हैरानी होगी कि अख्तर के नाम सबसे तेज गेंद फेंकने का गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड भी है।

Ind vs WI : कोहली ने तोड़ा गांगुली का रिकाॅर्ड, बने सचिन के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज

ऐसा है इंटरनेशनल रिकाॅर्ड

शोएब अख्तर ने अपने एक दशक से लंबे करियर में 163 वनडे खेले जिसमें उन्होंने 247 विकेट लिए। वहीं टेस्ट की बात करें तो अख्तर ने सिर्फ 46 मैच खेले जिसमें उन्होंने 178 विकेट चटकाए। अख्तर ने 15 टी-20 इंटरनेशनल मैच भी खेले हैं जिसमें उन्होंने 19 विकेट चटकाए।

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk