एक्सक्लूसिव

-कैम्पस में चलने वाले इन कोर्सेस में स्टूडेंट नहीं ले रहे इंटरेस्ट, हर साल खाली रह जाती हैं सीटें

- यूनिवर्सिटी प्रशासन ने डिसिजन लेने से पहले कोर्सेस के बारे में पुराना डाटा किया है तलब

KANPUR: सीएसजेएमयू कैंपस में चल रहे 6 प्रोफेशनल कोर्स पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। आने वाले टाइम में यह कोर्स विवि प्रशासन बंद भी कर सकता है। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने डिसिजन लेने से पहले कोर्स के बारे में पुराना डाटा तलब किया है। इसके बाद बाद इन कोर्स के बारे में इंस्टीट्यूट हेड से डिस्कशन किया जाएगा। फाइनल डिस्कशन होने के बाद इन कोर्स पर तालाबंदी के पूरे आसार हैं। इन कोर्सेस बीते कई सालों से स्टूडेंट्स की संख्या लगातार गिर रही है। हाल ये है कि सीटों के बराबर भी अप्लीकेशन नहीं आ रही हैं। इसलिए यूनिवर्सिटी प्रशासन इन्हें बंद करने पर विचार कर रहा है।

छात्र ही नहीं तो कोर्स क्यों?

यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन अब जॉब ओरियंटेड कोर्स पर ही फोकस कर रही है। यही वजह है जुलाई में करीब 17 नये कोर्स विवि प्रशासन ने स्टार्ट किए हैं। वहीं छह पुराने कोर्स ऐसे हैं जिन्हें विश्वविद्यालय प्रशासन बंद करने की तैयारी कर रहा है। सोर्सेज के मुताबिक, इन छह कोर्सेस में इंस्टीट्यूट ऑफ मॉस कम्युनिकेशन की हालत भी खराब हो रही है। अच्छी फैकल्टी ने विवि को बाय बाय कर दिया है। यूनिवर्सिटी के एक ऑफिसर ने कहा कि जहां पर छात्र नहीं उन कोर्स को बंद किया जा सकता है।

नये कोर्स की सीट्स फुल

सीएसजेएमयू कैम्पस में लगभग 60 जॉब ओरिएंटेड कोर्स चल रहे हैं। इस एकेडमिक सेशन से कैम्पस में 17 नये कोर्स स्टार्ट किए हैं। जिसमें कि सभी कोर्स जॉब ओरियंटेड हैं। इसमें इंस्टीट्यूट ऑफ फाइन आ‌र्ट्स में चार ब्रांच में पीजी कोर्स स्टार्ट किया है। इसके अलावा बीएससी इन योगा कोर्स इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंसेस में स्टार्ट किया गया है। इसके अलावा फैशन टेक्नोलॉजी व इंटीरियर डिजाइनिंग के कोर्स स्टार्ट किए गए हैं। पूराने कोर्सेस में भले ही स्टूडेंट ज्यादा रुचि न दिखा रहे हों, लेकिन नये कोर्स की सीटें फुल हो गई हैं।

----------------------

60 के करीब जॉब ओरिएंटेड कोर्स चल रहे कैम्पस में

17 नए कोर्स इस एकेडमिक सेशन से स्टार्ट किए गए हैं

20 हजार के करीब स्टूडेंट इन कोर्सेस में कर रहे पढ़ाई

10 के करीब कोर्सेस में खाली रह जाती हैं सीटें

6 कोर्स को बंद करने की यूनिवर्सिटी कर रही है तैयारी

Posted By: Inextlive

inext banner
inext banner