220

पर पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स, दिन भर रहा बदली जैसा मौसम

179

पहुंच चुकी थी पीएम-10 की मात्रा शाम सात बजे तक

15.1

डिग्री सेल्सियस रहा न्यूनतम तापमान प्रयागराज का सोमवार को

23.7

डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान रिकॉर्ड किया गया

सुबह से शाम तक सूरज के दर्शन से वंचित रहे प्रयागराज के लोग

बाहर ठंड, कमरे में महसूस हो रही थी गर्मी, चलाने पड़े पंखे-एसी

prayagraj@inext.co.in

सोमवार की सुबह से ही सीन चेंज था। भोर से ही हवा चल रही थी। सुबह बच्चों के लिए स्कूल पहुंचना मुश्किल था। उन्हें ब्लेजर स्वेटर और जैकेट पहनकर ही घर से निकलने पर मजबूर होना पड़ा। सुबह साढ़े सात बजे तक दूर-दूर तक सूरज के उदय होने का कोई निशान नहीं था। बदली जैसा माहौल बना था। यह स्थिति पूरे दिन रही। दिन में घर से निकलकर लोग ऑफिस पहुंचे तो चौंक गये। अंदर बिना पंखा चलाये रहना मुश्किल था। इससे सर्दी की दस्तक हो जाना मानकर चल रहे लोगों को थोड़ा झटका लगा। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट के लिए भी यह स्थिति चौकन्ना करने वाली थी। इसके बाद रिपोर्टर ने तय किया कि इंवेस्टिगेट करके सभी तथ्यों को परखा जाय ताकि सच्चाई सामने आये। शाम तक फैक्ट्स सामने आयी तो बदले हुए हालात सामने आये।

सर्दी का असर नहीं, अजीब था मौसम

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट रिपोर्टर ने सबसे पहले मौसम विभाग से आज के टेम्प्रेचर का डाटा जुटाने पर काम शुरू किया।

बमरौली एयरपोर्ट से मिले डाटा के अनुसार मैक्सिमम टेम्परेचर 23.7 और मिनिमम टेम्परेचर 15.1 ही था।

इलाहाबाद जंक्शन पर अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस शो हो रहा था।

खास बात है कि इसी के आसपास टेम्प्रेचर करीब एक पखवारे से बना हुआ है।

फिर बादल कैसे हैं? क्या ठंड की शुरुआत हो चुकी है?

सवाल का जवाब जानने के लिए रिपोर्टर उस स्थान पर पहुंचा जहां एयर क्वालिटी चेक करने वाला इंडेक्स डिस्प्ले बोर्ड लगा है।

इलाहाबाद जंक्शन के सर्कुलेटिंग एरिया में लगा डिस्प्ले बोर्ड बता रहा था कि यह खराब एयर क्वालिटी का इंपैक्ट हो सकता है।

क्योंकि यहां पब्लिक ट्रांसपोर्ट का मूवमेंट बेहद कम है और जाम लगने जैसी कोई स्थिति नहीं नहीं होती।

एक स्थान पर एक टाइम में सबसे ज्यादा भीड़ भी यहीं होती है।

धुआं उड़ाने वाले गाडि़यों की संख्या सिविल लाइंस, जानेसनगंज, कटरा, कचहरी रोड की अपेक्षा काफी कम होने के बाद भी इसके बाद भी सोमवार की शाम एयर क्वालिटी इंडेक्स 220 पर था।

जब इलाहाबाद जंक्शन के आस-पास के एरिया का ये हाल है तो फिर शहर के अन्य इलाकों का एयर क्वालिटी इंडेक्स कैसा होगा, ये बताने की जरूरत नहीं है।

पराली जलाने पर 23 किसानों पर कार्रवाई

इनवायरमेंट में स्मॉग का असर न दिखाई दे, इसको लेकर एडमिनिस्ट्रेशन भी गंभीर है। तभी तो पराली जलाए जाने की घटनाओं को गंभीरता से लिया जा रहा है। डीएम के आदेश पर कृषि विभाग पराली जलाने वाले किसानों पर नजर रख रहा है। डीएम का आदेश है कि पराली जलाने वाले किसानों पर जुर्माना लगाने के साथ ही उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराया जाए। लेकिन किसान हैं कि मानने को तैयार नहीं हैं। डिस्ट्रिक्ट में 23 स्थानों पर पराली जलाए जाने की जानकारी अधिकारियों को मिली है। जिसके आधार पर पराली जलाने वाले किसानों पर आर्थिक दण्ड के साथ-साथ एफआईआर दर्ज कराने की कार्रवाई की जा रही है। पर्यावरण संरक्षण के मद्देनजर पराली जलाने पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल व सुप्रीम कोर्ट का रूख सख्त है। पराली जलाने वाले किसानों के विरूद्व लगातार कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Inextlive

inext banner
inext banner