लखनऊ (ब्यूरो)। बेटी-दामाद के बीच सुलह कराने पहुंची वृद्धा को दामाद ने गोली मार दी. इसके बाद उसने खुद को भी गोली मार ली. गोमतीनगर विस्तार स्थित अलकनंदा अपार्टमेंट में शनिवार देर रात हुई घटना से हड़कंप मच गया. परिजनों ने गंभीर रूप से घायल वृद्धा को इलाज के लिये हॉस्पिटल में एडमिट कराया, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है जबकि डॉक्टर ने दामाद को मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने फॉरेंसिक जांच के लिये रिवॉल्वर को कब्जे में ले लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है.

सांसद की बहन है घायल सास

मूलरूप से जौनपुर निवासी अनिल सिंह खाद्य रसद विभाग से रिटायर्ड हैं. उनका बेटा अभिषेक सिंह (45) पत्नी प्रज्ञा और बेटी शनवी उर्फ अक्कू (11) के साथ गोमतीनगर विस्तार स्थित अलकनंदा अपार्टमेंट के क्यू ब्लॉक स्थित 503 नंबर फ्लैट में रहते थे. अभिषेक का भाई आशुतोष भी कुछ दूरी पर सुलभ कांप्लेक्स में रहता है. अभिषेक का ससुराल लालबाग में है. उनकी सास चंदा सिंह (55) पूर्वाचल के एक सासंद की चचेरी बहन हैं.

प्रज्ञा को गैलरी में वॉक करते देखा

अभिषेक के पड़ोसी फ्लैट नंबर 501 निवासी डॉक्टर चंद्रमोहन उपाध्याय ने बताया कि वह नीचे गैलरी में वॉक कर रहे थे, इस दौरान उन्होंने करीब 11.30 बजे प्रज्ञा को भी गैलरी में वॉक करते देखा था. कुछ देर बाद वह अपने फ्लैट पर चली गई. इसके बाद वह भी फ्लैट में चले गये. थोड़ी देर बाद अभिषेक के फ्लैट से दोनों के बीच विवाद के शोर शराबे और प्रज्ञा को पीटने की आवाज आने लगी. इस बीच अभिषेक की सास चंदा सिंह अपनी बहू अनामिका के साथ दोनों के बीच सुलह कराने पहुंचीं. कुछ देर बाद फ्लैट से काफी तेज-तेज चीखने चिल्लाने की आवाज सुनाई देने लगी. इसके बाद करीब 12.30 बजे फ्लैट से गोलियां चलने की आवाज सुनाई दी.

पांच राउंड चलाई थी गोलियां

फायर की आवाज सुनकर चंद्रमोहन उनके फ्लैट के डोर को नॉक किया तो प्रज्ञा चीखते हुए बाहर निकली. उसने बताया कि अभिषेक ने खुद को गोली मार ली. इससे पहले उसने गुस्से में सास चंदा सिंह पर फायर किया. गोली उनके पैर में लगी और वह वहीं गिर गई. इसके बाद अभिषेक ने साले की पत्नी अनामिका पर फायर किया, लेकिन फायर मिस होने से उनकी जान बच गई. अभिषेक ने कुल पांच राउंड फायर किया, जिसमें तीन राउंड मिस हो गए जबकि आखिरी में अभिषेक ने अपनी दहनी कनपटी पर खुद को गोली मार ली.

कार से लेकर पहुंचे सिविल हॉस्पिटल

गोली की आवाज सुन कर पड़ोसी चंद्रमोहन के साथ 6 फ्लोर के 608 फ्लैट नंबर निवासी मोनिका रॉय भी वहां पहुंच गई. डॉ. चंद्रमोहन अभिषेक और उसकी सास चंदा सिंह को अपनी कार में बैठा कर सिविल लेकर पहुंचे, जहां चंदा सिंह को ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया जबकि अभिषेक को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया. इसकी सूचना पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने अलकनंदा अपार्टमेंट पहुंच फ्लैट को क्राइम सीन के लिए सील कर दिया और लाइसेंसी रिवाल्वर को जांच के लिए कब्जे में ले लिया.

- 11:30 बजे फ्लैट के नीचे गैलरी में टहल रही थी प्रज्ञा

- 12:30 बजे पड़ोसी ने सुनी गोली चलने की आवाज

- 5 राउंड अभिषेक ने चलाई थी गोली

- 3 राउंड हो गये थे मिस

- 1 गोली सास को लगी

- 1 गोली खुद को मारी


lucknow@inext.co.in