कोलकाता(आईएएनएस)भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण यानि Geological Survey of India (GSI) ने सोनभद्र में 3000 टन से ज्‍यादा सोना मिलने के दावे को हवा का गुब्‍बारा साबित कर दिया है, जो फुस्‍स हो गया है। GSI द्वारा बताए गए पुख्‍ता अनुमान के मुताबिक यूपी के सोनभद्र में कई हजार टन नहीं बल्कि केवल 160 किलोग्राम सोना यहां मौजूद Sonbhadra Gold Reserve से निकल सकता है। इसके अलावा जीएसआई ने यह भी कहा है कि सोनभद्र के इस इलाके में सोने की खोज के लिए किए सर्वेक्षण के नतीजे उत्साहजनक नहीं रहे हैं। बता दे कि जीएसआई ने सोनभद्र पहाड़ी और हरदी क्षेत्र में 3,350 टन सोना पाए जाने से जुड़ी मीडिया न्‍यूज पर स्‍पष्टीकरण देते हुए ऐसा कहा है।

GSI की रिपोर्ट से हुआ पूरा खुलासा

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने कहा है कि हमारी ओर से सोनभद्र में इतनी भारी मात्रा में सोना मिलने का अनुमान कभी नहीं लगाया गया है। बताया गया कि GSI उत्तरी क्षेत्र, ने सोने की खोज में अब तक तमाम सर्वे किए हैं, हालांकि, सोनभद्र जिले में सोने की खोज से जुड़े सर्वे के रिजल्‍ट उत्‍साहजनक नहीं रहे। GSI ने यह भी कहा, यह खोज लगभग बीस साल पहले 1998-99 और 1999-2000 में की गई थी, और फिर इसकी रिपेार्ट यूपी के भूगर्भ विज्ञान निदेशालय(DGM) को आगे की कार्यवाही के लिए सौंप दी गई।

एक टन स्‍वर्ण अयस्‍क से मिलता है सिर्फ 3 ग्राम शुद्ध सोना

जीएसआई ने मीडिया को बताया, यूपी के विभाग को सौंपी गई उस रिपोर्ट के मुताबिक सोनपहाड़ी सब-ब्लॉक-एच में 170 मीटर की रेंज में 3.03 ग्राम प्रति टन सोने (औसत ग्रेड) के हिसाब से 52806.25 टन अयस्क मिलने की संभावना है। जीएसआई द्वारा इस खनिज क्षेत्र में एक टन अयस्‍क से औसतन 3.03 ग्राम शुद्ध सोना मिलने का अनुमान लगाया गया है। इस हिसाब से 52806.25 टन अयस्क निकलने पर 3,350 टन नहीं बल्कि लगभग 160 किलोग्राम सोना ही मिलेगा। बता दें, सोनभद्र में सोना मिलने की खबरों पर स्‍पष्टीकरण देने के लिए DMG, UP और GSI द्वारा एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित की गई है।

Posted By: Chandramohan Mishra

National News inextlive from India News Desk