ranchi@inext.co.in
RANCHI: रांची पुलिस कुख्यात सोनू इमरोज हत्याकांड में सरेंडर कर जेल गए मो. शकील उर्फ कारू लूल्हा और चमड़ा छोटू से गायब पिस्टल की बरामदगी का प्रयास कर रही है. इसके लिए पुलिस ने जेल से मो शकील उर्फ कारू लूल्हा और चमड़ा छोटू को रिमांड पर लिया है. सोनू की हत्या में इस्तेमाल की गई पिस्टल बरामद नहीं हुई है. रिमांड पर लिए गए अपराधियों ने बताया है कि सोनू की हत्या के बाद पिस्टल बड़ा तालाब में फेंक दिया था. बता दें कि बीते चार नवंबर को डेली मार्केट थाना से 50 मीटर की दूरी पर स्थित टैक्सी स्टैंड में सरेआम सोनू की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

क्या कहते हैं आरोपी
पूछताछ में दोनों ने बताया कि सोनू को कारू लूल्हा ने डेली मार्केट टैक्सी स्टैंड के पास गिराया था. इसके बाद वह लात मार रहा था. उसी दौरान शमसाद और चमड़ा छोटू ने उसपर ताबड़तोड़ पांच गोलियां मारी थी. गोली मारने के बाद भी लूल्हा उसे लात मारता रहा. जब उन्हें लगा की सोनू मर चुका है तब वो वहां से भाग निकले. दोनों ने बताया कि सोनू की शमशाद के साथ खूनी अदावत थी.

शमसाद के खिलाफ कुर्की की तैयारी
पुलिस शमसाद के खिलाफ कुर्की जब्ती की कार्रवाई करेगी. सोनू की हत्या को लेकर उसके पिता हिंदपीढ़ी नेजाम नगर निवासी अब्दुल गफ्फार ने नौ के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी. इनमें छोटा तालाब निवासी मो. शमसाद उर्फ चेपटा, मो. शमशेर, मो. गुगुन, चमड़ा छोटू, मो. जाबिर, मो. शम्स तबरेज उर्फ दिलीप, कारू लुल्हा, डीसी गुड्डू और मो. अरशद शामिल हैं. अब इनकी भूमिका की जांच चल रही है.