स्पीकर ने बीजेपी से विपक्ष का दर्जा छीनकर जेडीयू को दे दिया गया है. अब बिहार असेंबली में जेडीयू को विपक्ष का दर्जा मिल जाने के बाद बीजेपी ने जमकर हंगामा किया. बीजेपी लीडर्स ने विधानसभा अध्यक्ष पर पक्षपात का आरोप लगाया हैं, उनका कहना है विधानसभा में नेता का चुनाव होना चाहिए वे इसका पूरा विरोध करेंगे. वहीं जेडीयू प्रेसिडेंट वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा है कि सत्ता पाने के लिए बीजेपी बिहार में बेताब है. सिंह का कहना है कि बिहार में जमकर पैसे का इस्तेमाल हो रहा है. उन्होंने कहा कि सीएम जीतनराम मांझी के पास सिर्फ 12 विधायकों का समर्थन है. मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को बिहार में 20 फरवरी को विश्वास मत हासिल करना है.

हासिल करेंगे बहुमत: मांझी
इस बीच भाजपा से समर्थन के स्पष्ट संकेत नहीं मिलने और जदयू समेत दूसरे दलों की तरफ से विधायकों द्वारा समर्थन की घोषणा नहीं करने के बाद भी मांझी 20 फरवरी को सदन में बहुमत हासिल करने को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं. उन्होंने मीडिया से कहा कि 20 को तस्वीर साफ हो जाएगी. उनके समर्थक विधायकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, इसलिए वे बहुमत हासिल कर लेंगे. क्या भाजपा पक्ष में वोट करेगी, इस सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सिर्फ भाजपा ही नहीं,  जदयू समेत अन्य दलों के विधायकों का भी उन्हें समर्थन प्राप्त है, इसलिए उन्हें बहुमत की चिंता नहीं है.

लगाई योजनाओं की झड़ी
मुख्यमंत्री मांझी ने बुधवार को नई योजनाओं के शिलान्यास, उद्घाटन और उन पर कार्य आरंभ करने की झड़ी लगा दी.  उन्होंने संवाद कक्ष में 5340.49 लाख की 13 योजनाओं का शिलान्यास, 5916.67 लाख रुपये की 20 योजनाओं का कार्यारंभ एवं 7696.51 लाख रुपये की 21 योजनाओं का उद्घाटन किया. इस तरह मांझी ने बिहार राज्य पुल निर्माण निगम, ग्रामीण कार्य, सामाजिक कल्याण एवं पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की  7900 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास, उद्घाटन और कार्य का शुभारंभ किया. उन्होंने पथ निर्माण विभाग की 2530.29 करोड़ रुपये की लागत से 1538.28 किलोमीटर लंबी 122 सडक़ों एवं 367.27 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली 84 पुल- पुलियों की आधारशिला भी रखी. साथ ही ग्रामीण कार्य विभाग की 3580.21 करोड़ की 2426 पथों एवं 28.50 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले दो पुलों का शिलान्यास तथा 11.06 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित तीन पथों एवं तीन पुलों का उद्घाटन भी किया. लगभग 63 लाख वृद्ध, विकलांग, विधवाओं को दो-दो हजार रुपये की पांच महीने की पेंशन की शुरुआत सांकेतिक रूप से सभी श्रेणी के दस-दस लाभार्थियों को पेंशन की राशि देकर की.

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk