lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : यूपी एटीएस की गिरफ्त में आए ब्रह्मोस मिसाइल प्रोजेक्ट से जुड़े  साइंटिस्ट निशांत अग्रवाल को अदालत ने सात दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर  देने के आदेश दिए हैं जिसके बाद एटीएस अब उससे पाकिस्तान को भेजी गयी  जानकारियों के राज उगलवाने की तैयारी में है। नागपुर में महाराष्ट्र एटीएस के सहयोग से गिरफ्तार किए गये निशांत अग्रवाल को एटीएस ने गुरुवार को  राजधानी स्थित स्पेशल सीजेएम कस्टम कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया गया था। ध्यान रहे कि उसे नागपुर की अदालत ने तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड पर एटीएस
के सुपुर्द किया था।

115 लोग जांच के दायरे में
एटीएस के सूत्रों की मानें तो निशांत जिन दो पाकिस्तानी जासूस महिलाओं से  फेसबुक पर संपर्क में था, उनकी प्रोफाइल को खंगालने के बाद करीब 115 लोगों को शार्ट लिस्ट किया गया है जिन पर देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने  का संदेह है। एटीएस को अंदेशा है कि दोनों प्रोफाइल से सेना से जुड़े लोगों को फेसबुक फ्रेंड बनाकर अहम जानकारियां बटोरी जा रही है। इनमें से तमाम रक्षा प्रतिष्ठानों से जुड़े हैं जो सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता का सबब बन गया है। दरअसल इससे पहले गिरफ्तार किए गये बीएसएफ के जवान अच्युतानंद के साथ भी यही तरीका अपनाया गया था जिसके बाद निशांत अग्रवाल का भी सुराग हाथ लगा था। फिलहाल अब सारा दारोमदार निशांत से पूछताछ और उससे बरामद इलेक्ट्रानिक गैजेट्स की फोरेंसिक रिपोर्ट पर टिका है जिसमें तमाम गहरे राज छिपे होने की उम्मीद है।

बड़े भाई ने दी मुखाग्नि, कानून मंत्री बोले फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी विवेक मर्डर केस की सुनवा

विवेक तिवारी केस : बेलगाम पुलिस, खौफ में राजधानीवासी

Posted By: Mukul Kumar

Crime News inextlive from Crime News Desk