समीक्षा बैठक में कई थानेदारों को एसएसपी ने लगाई फटकार,दी चेतावनी

विवेचनाओं के लंबित होने से इंसाफ के लिए भटकने को मजबूर हैं फरियादी

ALLAHABAD: वारदात के बाद घटना की विवेचना में जबरदस्त लापरवाही सामने आई है. विवेचना में विलंब होने से पीडि़त व्यक्ति को इंसाफ मिलने में वक्त लग रहा है. हालात को देखते हुए एसएसपी नीतिन तिवारी ने शनिवार रात समीक्षा मीटिंग की. मीटिंग में उन्होंने पाया कि कई थानों में महीनों से चल रही विवेचनाएं आज तक पूरी ही नहीं हुई. यह देख खफा एसएसपी ने कई थानेदारों व दरोगाओं को कड़ी फटकार लगाई. चेतावनी दी कि इसके बाद यदि विवेचना में तेजी नहीं आई तो संबंधित थानेदार व दरोगा कार्रवाई के लिए तैयार रहे.

पांच थाने विवेचना में फिसड्डी

जिले के सभी थानों में हत्या, लूट, रेप जैसी घटनाओं के दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं. इनमें से अधिकांश की विवेचना थानों पर तैनात दरोगा या थानेदारों को ही सौंपी गई है. थानेदार व दरोगा के नाम विवेचना की फाइल अलाट हैं. यह लोग विवेचना जैसे कार्यो में लापरवाही बरत रहे हैं. विवेचना पूरी न होने से पीडि़त व्यक्ति को इंसाफ मिल पाने में लंबा वक्त लग रहा है. पीडि़त इंसाफ के इंतजार में भटकने को मजबूर हैं. हालात को देखते हुए एसएसपी ने शनिवार रात विवेचनाओं की समीक्षा की. इस दौरान थानावार लंबित विवेचनाओं की फाइलों पर उन्होंने नजर दौड़ाई. विभागीय सूत्र बताते हैं कि कर्नलगंज, दारागंज, शिवकुटी, शाहगंज, खुल्लादाबाद थानों में लंबित विवेचनाओं की संख्या अधिक है. इनमें से कुछ फाइलों की विवेचना अधूरी तो कई की में शुरुआत तक नहीं हुई थी. यह देखते हुए इन थानों के थाना प्रभारियों व संबंधित दरोगाओं को की उन्होंने जमकर क्लास ली. चेतावनी दी कि लंबित विवेचनाओं में अगली मीटिंग तक तेजी नहीं आई तो संबंधित दरोगा या थानेदार कार्रवाई के लिए तैयार रहें. एसएसपी के इस रुख को देखते हुए विभाग में हड़कंप की स्थिति है.

बाक्स

शिकायतों के निस्तारण में भी सुस्ती

इस मीटिंग में मौजूद एक थानेदार की मानें तो लंबित शिकायतों के निस्तारण में सुस्ती पर भी एसएसपी का पारा गर्म रहा.

जिले के सभी थानेदारों को चेतावनी देते हुए लंबित शिकायतों को तेजी से निस्तारित करने के निर्देश दिए गए हैं.

भूमि विवाद, पारिवारिक मामलों और धमकी जैसे मामलों की शिकायतों के निस्तारण पर विशेष ध्यान दिए जाने को कहा गया है.