- स्टॉफ सेलेक्शन कमीशन ने जारी किया 2017 का फाइनल रिजल्ट

- सिविल, मैकेनिकल एंड इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पोस्ट पर हुआ है सेलेक्शन

- 29 अप्रैल को हुई थी पेपर टू की परीक्षा, 22 जून को हुआ था डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: स्टॉफ सेलेक्शन कमीशन ने जूनियर इंजीनियर (सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल एंड क्वांटिटी सर्वेइंग एंड कांट्रेक्ट) एग्जामिनेशन 2017 का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया है. इसमें 1280 परीक्षार्थी सिविल इंजीनियरिंग एवं 319 कैंडिडेट इलेक्ट्रिकल एंड मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पेपर टू के बेस पर सेलेक्ट हुए थे. इसके लिए कट ऑफ मा‌र्क्स फिक्स किया गया था.

सबसे ज्यादा सिविल इंजीनियरिंग में सेलेक्ट

परीक्षा परिणाम के मुताबिक जेई पेपर टू की परीक्षा 29 अप्रैल को करवाई गई थी. पेपर टू के बेस पर कैंडिडेट्स को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए कॉल किया गया था. इसका डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन 22 जून को करवाया गया था. इसके बाद कुल 341 कैंडिडेट्स को फाइनली क्वालीफाइड घोषित किया गया है. इसमें सिविल इंजीनियरिंग के लिए 256, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के लिए 40 एवं मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए 45 कैंडिडेट क्वॉलीफाई हुए हैं.

सलोरी की मीरा मिश्रा को मिली सफलता

कठिन परिश्रम तथा आत्मविश्वास मनुष्य की सफलता की कुंजी है. इससे कोई भी बंद भाग्य के दरवाजे खोल सकता है. यह कहना है जेई के परीक्षा परिणाम में सफलता पाने वाली प्रयागराज की मीरा मिश्रा का, मीरा कृषक परिवार में पली-बढ़ी हैं. उन्होंने राजकीय पालीटेक्निक बहराइच से सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद सलोरी में रहकर पहले ही प्रयास में सफलता हासिल की है. वह अपने छोटे भाइयों महेश मिश्रा एवं सुधीर मिश्रा को डॉक्टर एवं इंजीनियर बनाना चाहती हैं.