features@inext.co.in
KANPUR: छोटे-छोटे बच्चों को मच्छरों से बचाने के लिए लाख उपाय कर लो, लेकिन आखिर में सब नाकाफी साबित होते हैं। कुछ ऐसी ही प्रॉब्लम फेस की इंदौर के श्रेष्ठा और मयूर ने। ऐसे में काफी सोचने के बाद दोनों ने बूटस्ट्रैप्ड नाम से एक स्टार्टअप शुरू किया। उन्होंने ऐसे कपड़े तैयार किए, जिसके फाइबर में 100 पर्सेंट एक्टिव कीटनिरोधक ग्रेडिएंट मौजूद थे। कई एक्पेरिमेंट्स के बाद ये दिखा कि इन कपड़ों के पास मच्छर फटकते भी नहीं हैं।

ऐसे लाया जाता है यूज में
बूटस्ट्रैप्ड स्टार्टअप सिल्क और मखमल को छोड़कर बाकी सभी तरह के मटीरियल्स पर ट्रीटमेंट प्रोवाइड करता है और बच्चों और वयस्कों के लिए कीट-निरोधक, एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-बैक्टीरियल कपड़ों व परिधानों की अपनी रेंज भी मार्केट में उतारता है। इस टेक्निक से घरों और प्रोफेशनल प्लेसेस में यूज होने वाले कर्टेन्स, बेड शीट्स जैसे मैटेरियल का ट्रीटमेंट भी किया जा सकता है।

Startup Idea: प्लास्टिक बॉटल्स को रिसाइकिल कर बनी ये टी-शर्ट्स देती है ठंडक

Startup Idea: अपनी 'फुलवारी' से खूबसूरत बनाते हैं आपकी बगिया

पूरे देश में फैलाना है इनोवेटिव आइडिया को
इस समय इस क्लोदिंंग इनोवेशन में हर महीने 50,000 बच्चों के कपड़े बनाने की क्षमता है और हर महीने 100,000 मीटर कपड़े को कीट-निरोधक लायक (ट्रीट) बना सकते हैं। फिलहाल श्रेष्ठा और मयूर का ये स्टार्टअप इंदौर, लखनऊ, पांडिचेरी और इसके आसपास अपनी पहचान बना चुका है। अब इसको पूरे देश में फैलाना है।

Business News inextlive from Business News Desk