- शाम छह बजे तक हुई रजिस्ट्री

- चार दिन से हड़ताल पर थे वकील

आगरा. प्रस्तावित सर्किल दरों के विरोध में पिछले चार दिनों से रजिस्ट्री नहीं हो रही थीं. जिला प्रशासन और विरोध कर रहे वकील, दस्तावेज लेखक और स्टाम्प वेंडरों के बीच बुधवार को समझौता हो गया. गुरुवार से रजिस्ट्री का होना शुरू हुआ, तो राजस्व भी चार करोड़ आया.

रोज करीब एक करोड़ का राजस्व

एआईजी स्टाम्प निरंजन कुमार ने बताया कि सामान्य तौर पर प्रत्येक दिन रजिस्ट्री से करीब एक करोड़ का राजस्व आता है. हड़ताल खत्म हुई तो रजिस्ट्री कराने वाले तहसील सदर में उमड़ पडे़. देर शाम तक रजिस्ट्री हुई.

गुरुवार को रजिस्ट्री

300

राजस्व

चार करोड़

सदर तहसील में हैं पांच सब रजिस्ट्रार

प्रस्तावित सर्किल दरों का केवल सदर तहसील में ही विरोध चल रहा था. सदर तहसील के निबंधन कार्यालय में पांच सब रजिस्ट्रार हैं. जिनमें क्षेत्रवार रजिस्ट्री होती हैं. सर्वाधिक रजिस्ट्री सब रजिस्ट्रार द्वितीय, तृतीय और पंचम में हुई.