विश्वविद्यालय के कोर्सो में फीस वृद्धि व वीसी के भ्रष्टाचार के खिलाफ तीसरे दिन भी जारी रहा छात्रों का अनशन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. आरएल हांगलू के कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार और कोर्सो में की जाने वाली फीस वृद्धि के खिलाफ छात्रों का क्रमिक अनशन तीसरे दिन मंगलवार को भी जारी रहा. छात्रसंघ भवन पर इलाहाबाद युनिवर्सिटी यूनियन के बैनर तले खासतौर से अब तक मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर द्वारा कुलपति के भ्रष्टाचार पर चुप्पी साधने आक्रोशित छात्रों ने उनको सदबुद्धि प्रदान करने के लिए बुद्धि शुद्धि यज्ञ किया.

छात्रों ने उपेक्षा का लगाया आरोप

छात्रों ने एक स्वर में कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति में विश्वविद्यालयों को 30 फीसदी धन स्वयं अर्जित करने का निर्देश मानव संसाधन विकास मंत्रालय को दिया है. जिसके कारण कुलपति प्रो. हांगलू ने इसका भार छात्रों पर बढ़ाते हुए विश्वविद्यालय की फीस में तीन गुना की वृद्धि कर दी है. एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव विवेकानंद पाठक ने कहा कि लगातार मंत्रालय को कुलपति के भ्रष्टाचार के बारे में अवगत कराया जा रहा है. फिर भी अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया. इस लिए आंदोलन को विश्वविद्यालय के संघटक कॉलेजों से लेकर सभी डेलीगेसियों में चलाया जाएगा. इस मौके पर विकास तिवारी, आनंद सिंह, शैलेन्द्र मौर्या, सूरज मिश्रा, हरिनाम सिंह, अंकुश यादव, नीरज प्रताप सिंह, सुधांशु सिंह, सुनील यादव, उदय प्रकाश यादव आदि छात्र मौजूद रहे.

डीएम से करेंगे मुलाकात

अनशन के दौरान छात्रों ने निर्णय लिया कि रुम रेंट कंट्रोल एक्ट के मुद्दे पर छात्रों का प्रतिनिधिमंडल जल्दी ही जिलाधिकारी से मिलेगा.ताकि डेलीगेसियों में रुम रेंट कंट्रोल एक्ट को लागू कराया जा सके. छात्रनेता आनंद सिंह निक्कू ने डेलीगेसी में रहने वाले छात्रों से अपील की है कि कोई भी छात्र मकान मालिकों के शोषण से डरे ना बल्कि उसके खिलाफ लोकतांत्रिक तरीके से आवाज उठाएं.