-छात्रवृति में विवि कर्मचारियों की लापरवाही उजागर

-आक्रोशित स्टूडेंट्स ने खंदारी कैम्पस में लगाए ताले

आगरा. डॉ.भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में कर्मचारियों की लापरवाही का खामियाजा स्टूडेंट्स को उठाना पड़ रहा है. अंतिम तिथि निकलने के बाद सैकड़ों स्टूडेंट्स रिजेक्ट हो गए हैं. मामला संज्ञान में आने के बाद भी अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई. इससे शनिवार को स्टूडेंट्स और छात्र नेताओं को गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया. छात्र नेताओं ने तीनों संस्थानों को ताले जड़ दिए. विवि अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर हंगामा किया.

आईटी सहित तीन संस्थानों में जड़े ताले

विश्वविद्यालय कर्मचारियों ने प्राप्त स्कॉलरशिप के फार्म की फीडिंग समय पर नहीं की. साथ ही हार्ड कॉपी समाज कल्याण विभाग में पहुंचा दी, जहां उक्त फार्म पर कोई विचार नहीं किया गया. इस पर छात्र संघ अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा के नेतृत्व में सैकड़ों स्टूडेंट्स ने आईटी, होटल पर्यटन और पदमचंद में ताले लगा दिए. सूचना मिलने पर भारी संख्या में पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया.

पानी की टंकी पर चढ़े छात्र नेता

विवि के खंदारी कैम्पस में बनी पानी टंकी पर छात्र संघ अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा, संयुक्त मंत्री कुनाल दिवाकर, कृतिका सोलंकी चढ़ गए. जहां बमुश्किल सुरक्षा कर्मियों द्वारा उन्हें नीचे उतारा गया. कुलपति के खिलाफ नारेबाजी करने वाले स्टूडेंट्स का कहना था विवि अधिकारियों के मामला संज्ञान में होने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. इधर, शाम को छात्रों ने भूख हड़ताल भी शुरू कर दी है.