10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने की व्यवस्था

स्कूलों में मंथली टेस्ट का भी होगा आयोजन

meerut@inext.co.in
MEERUT : इसी कड़ी में अब विभाग की ओर से दो बार प्री बोर्ड एग्जाम कराने का फैसला लिया गया है. बोर्ड अधिकारियों का मानना है कि इस व्यवस्था के तहत स्टूडेंट्स को एग्जाम प्रिपरेशन में काफी मदद मिलेगी. साथ ही वे समय रहते खुद की तैयारियों को आंकलन भी कर सकेंगे.

बोर्ड की तरह ही होंगे एग्जाम
यूपी बोर्ड में होने वाले प्री बोर्ड एग्जाम मेन बोर्ड एग्जाम की तरह होंगे. इनके क्वेश्चन पेपर्स भी बोर्ड एग्जाम की तरह ही डिजाइन किए जाएंगे. पहले प्री बोर्ड के रिजल्ट में स्टूडेंट्स की परफार्मेस के हिसाब से आगे की तैयारी कराई जाएगी. वहीं दूसरे प्री बोर्ड में स्टूडेंट्स को इस तरह से तैयार किया जाएगा कि बोर्ड परीक्षाओं के लिए छोटी-छोटी कमियों को दूर किया जा सके. इसमें उनकी राइटिंग स्किल्स, क्वेश्चन अटेंप्ट करने के तरीकों आदि पर फोकस किया जाएगा. वहीं प्री बोर्ड के जरिए स्टूडेंट्स के कमजोर सब्जेक्ट्स का आंकलन भी किया जाएगा ताकि स्टूडेंट्स अपनी कमियों को समय रहते दूर कर सकें ताकि मेन बोर्ड एग्जाम में उन्हें हाई स्कोरिंग में किसी तरह की कोई परेशानी न हो.

मंथली टेस्ट की भी व्यवस्था
बोर्ड एग्जाम में स्टूडेंट्स पुख्ता तैयारियों के साथ उतरे इसलिए इस बार स्कूलों में अलग से हर महीने मंथली टेस्ट का आयोजन होगा. इसके अलावा स्कूल भी अपने हिसाब से इन टेस्ट्स करा सकते हैं. मेन बोर्ड को लेकर स्टूडेंट्स की तैयारी किसी स्तर पर कम न रह जाए इस बाबत बोर्ड ने नई व्यवस्थाएं जारी की है.

स्टूडेंट्स बोर्ड एग्जाम में बेहतर प्रदर्शन कर पाए. इसके लिए प्री बोर्ड की व्यवस्थाएं कराई गई हैं. स्कूल अपने हिसाब से मंथली टेस्ट भी आयोजित कराएंगे.
गिरजेश कुमार चौधरी, डीआईओएस, मेरठ