कानपुर। सुष्मिता सेन ने 26 साल पहले 21 मई, 1994 को मिस यूनिवर्स का ताज जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनकर इंडिया को प्रॉउड फील कराया था। तभी से सुष चेश के यंगस्टर्स का आइडल रही हैं, फिर चाहे बात फिटनेस के मामले में हो या वैल्यूज के बारे में। 44 साल की हो चुकी इस एक्ट्रेस ने अपने आप को फिटनेस और परफेक्ट लुक की मिसाल के तौर पर प्रेजेंट किया है। सुष्मिता ने 18 साल की उम्र में मिस यूनिवर्स का टाइटिल जीता था।

परिवार का प्यार

सुष्मिता के लिए उनका परिवार हमेशा खास रहा है। मिड डे के मुताबिक बंगाली फेमिली की सुष का मां शुभ्रा सेन एक ज्वेलरी डिजाइनर हैं और पिता सुबीर सेन एक रिटायर्ड इंडियन एयरफोर्स के विंग कमांडर हैं। उनके एक भाई और बहन हैं जिनके नाम राजीव और नीलम हैं। बाद में उन्होंने दो बेटियों रेने और रेनसां को अडाप्ट किया और सिंगल पेरेंट बनीं। इस समय वे रोहमन सॉल के साथ रिलेशन में हैं पर उन्होंने शादी नहीं की है।

आज ही के दिन सुष्मिता सेन ने जीता था भारत की पहली मिस यूनिवर्स का खिताब

सारी स्टोरी

अपने इंस्टाग्राम पेज पर उन्होंने स्टोरीज में मिस यूनिवर्स बनने से लेकर अब तक की सारी स्टोरी शेयर की है। ऊपर दी गई तस्वीर पर क्लिक कर करके आप इस लिंक पर पहुंच जायेंगे और सुष के मिस यूनिवर्स बनने और उसके बाद के मोमेंट को महसूस कर सकते हैं। सुष्मिता ने 1996 में महेश भट्ट की फिल्म दस्तक से अबना बॉलिवुड डेब्यु किया था। इसके बाद 1997 में वे तमिल फिल्म रक्षगन में नजर आईं।

मिस यूनिवर्स को किया जज, हुईं बीमारी का शिकार

इस पूर्व मिस यूनिवर्स की लाइफ में काफी ट्विस्ट एंड टर्न रहे हैं। 2017 में मनीला में आयोजित मिस यूनिवर्स पेजेंट को उन्होंने जज किया। इस बारे में अपने अनुभव को साझा करते हुए, सुष्मिता ने कहा कि, यह एक शानदार अनुभव था। इसके अलावा वे सामाजिक मुद्दों के लिए अपनी आवाज उठाने के लिए भी जानी जाती हैं, उन्होंने ने मिड-डे से कहा कि, “हालांकि #MeToo आंदोलन को पश्चिम से कॉपी किया गया है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम इसे अनदेखा कर दें। मई, 2020 में, सुष्मिता सेन ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया जब उन्होंने बताया कि वे एडिसन डिजीज नाम की ऑटो-इम्यून डिजीज की शिकार हो गई हैं।

Posted By: Molly Seth

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk

inext-banner
inext-banner