-फतेहगंज पश्चिमी निवासी महिला की दिल्ली में इलाज के दौरान हुई मौत

-मलेरिया और डेंगू के बाद स्वाइन फ्लू की दस्तक से हेल्थ डिपार्टमेंट में हड़कंप

बरेली : मलेरिया को कंट्रोल करने के लिए जूझ रहे हेल्थ डिपार्टमेंट में ट्यूजडे को स्वाइन फ्लू से पीडि़त फतेहगंज पश्चिमी निवासी एक महिला की दिल्ली में इलाज के दौरान मौत होने से हड़कंप मच गया है. वहीं डेंगू के मरीजों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट बुखार से पीडि़त महिला को जांच में डेंगू होने की पुष्टि हुई है. महिला को डेंगू वार्ड में शिफ्ट करके इलाज किया जा रहा है.

दिल्ली में चल रहा था इलाज

फतेहगंज पश्चिमी के मोहल्ला साहूकारा निवासी विमला देवी पत्नी जगदीश गंगवार की इलाज के दौरान दिल्ली में मौत हो गई. विमला देवी एक सप्ताह से स्वाइन फ्लू की चपेट में थीं. उनका दिल्ली स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल में चल रहा था. विमला देवी ट्रेनी आइएएस सौरव गंगवार की मां हैं. उनके बड़े बेटे गौरव गंगवार भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के अध्यक्ष हैं. उनका छोटा बेटा मर्चेट नेवी में है. कई दिन इलाज के बाद भी बुखार कम न होने पर परिजन उन्हें दिल्ली ले गए थे, जहां जांच में स्वाइन फ्लू होने की पुष्टि हुई थी.

अब तक डेंगू के 26 मरीज मिले

शहर में लगातार मच्छर जनित रोगों से ग्रसित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. आलम यह है कि हेल्थ डिपार्टमेंट के लगातार प्रयासों के बावजूद मरीजों की संख्या कम होने की बजाए बढ़ रही है. जिले में अब तक 26 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है.

कागजी साबित हो रहे दावे

शासन की ओर से हेल्थ डिपार्टमेंट को निर्देशित किया गया है कि जिन इलाकों में मलेरिया, डेंगू का प्रकोप ज्यादा है वहां नियमित रूप से टीम को भेजकर लोगों को मच्छरों से बचाव के लिए अवेयर किया जाए. मलेरिया विभाग की ओर से शहर में अभियान चलाने को 5 टीमों का गठन भी किया है लेकिन सिर्फ एक दो बार अभियान चलाकर कागजों में भी लोगों को अवेयर किया जा रहा है.

वर्जन

मामला मेरे संज्ञान में नहीं था, परिवार वालों की सूचना मिलने के बाद घर के आसपास एंटी लार्वा छिड़काव करा दिया गया है. महिला अस्पताल में भर्ती एक महिला में डेंगू की पुष्टि हुई है.

डॉ. विनीत शुक्ला, सीएमओ.