वुहान, चीन (पीटीआई)। भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज फिलहाल चीन के दौरे पर हैं। वहां उन्होंने अपने चीनी समकक्ष वांग ई से बुधवार को पुलवामा आतंकी हमले पर चर्चा की। स्वराज ने वांग से कहा कि पुलवामा हमला पाकिस्तान द्वारा जैश-ए-मोहम्मद को दिए गए छूट का नतीजा है। भारत द्वारा पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद (JeM) आतंकी संगठन के प्रशिक्षण शिविर को नष्ट करने के एक दिन बाद वांग के साथ स्वराज की बैठक हुई है।  चीन, रूस और भारत के विदेश मंत्रियों के बीच हुई त्रिपक्षीय बैठक के दौरान स्वराज ने कहा, 'मैं ऐसे समय में चीन का दौरा कर रही हूं जब भारत शोक और गुस्सा में है। जम्मू-कश्मीर में हमारे सैनिकों पर यह अब तक का सबसे खराब आतंकवादी हमला था। यह हमला पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने किया था।' बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 41 जवान शहीद हो गए थे।

पाकिस्तान ने दी है खुली छूट

विदेश मंत्री ने कहा, 'संयुक्त राष्ट्र और अन्य देशों द्वारा जैश-ए-मोहम्मद पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, फिर भी पाकिस्तान ने अपने देश में उसे खुली छूट दे रखी है, पुलवामा आतंकी हमला इसी छूट का नतीजा है। इस हमले की सभी देशों ने निंदा की।' उन्होंने कहा कि आतंकी हमलों पर भारत की नीति जीरो टॉलरेंस की होगी। इस तरह के हमले को लेकर कड़ी कार्रवाई करने की जरुरत है। यह हमला सभी देशों के लिए एक चेतावनी है। पाकिस्तान ने इस तरह के हमले के बाद जैश-ए-मोहम्मद और अन्य आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने के बजाय इसे खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने उनपर कार्रवाई नहीं की, इसलिए भारत को आतंकियों का सफाया करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक जैसा कदम उठाना पड़ा।'

चीन के साथ संबंध हुए मजबूत

बुधवार को चीन पहुंची सुषमा ने वांग ने कहा कि यह इस साल की उनकी पहली मुलाकात है, इसलिए दोनों देशों के लिए द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने का यह सही समय है। भारत और चीन एक दूसरे के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच वुहान शिखर सम्मेलन में हुई बैठक का जिक्र करते हुए स्वराज ने कहा कि दोनों नेताओं की बैठक के बाद हमारे संबंध मजबूत हुए हैं।

पाकिस्तान की सीमा में घुसकर भारत ने किया हमला
बता दें कि इंडियन एयरफोर्स ने मंगलवार को पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर हमला कर दिया। इस हमले में करीब 300 से अधिक आतंकी मारे गए। भारतीय विदेश मंत्रालय के सचिव विजय गोखले ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि सर्जिकल स्ट्राइक 2 के बाद बड़ी संख्या में जेएम आतंकियों, प्रशिक्षकों, सीनियर कमांडरों और जेहादियों के समूह का सफाया हो गया। इस हमले के बाद चीन ने भारत और पाकिस्तान को संयम बरतने के लिए कहा।

Surgical Strike 2 : IAF हार्इ अलर्ट पर, कैबिनेट सुरक्षा कमेटी की बैठक जारी

Surgical Strike 2 : जैश के आतंकी ठिकानों पर IAF का बड़ा हमला, पाकिस्तानी सेना ने पुष्टि कर जारी की तबाही की तस्वीरें

International News inextlive from World News Desk