- 1985 से अब तक की सबसे गर्म 25 मई, पारा 45 डिग्री के पार पहुंचा

- ट्यूजडे को आंधी आने की संभावना, मिल सकती कुछ राहत

kanpur@inext.co.in

KANPUR: आसमान से लगातार अंगारे बरसने से शहर तप रहा है. दिन में ही नहीं रात तक लोगों को गर्म हवाओं का सामना करना पड़ रहा है. छतें, दीवारें तपने से पंखें गर्म हवा उगल रहे हैं और घरों की छतों पर रखी पानी की टंकियों से खौलता हुआ पानी निकल रहा है. मंडे को तो टेम्परेचर ने पिछले 30 साल का रिकार्ड तोड़ दिया. मैक्सिमम टेम्परेचर 45 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक आने वाले दिनों में इस भीषण गर्मी से कुछ छुटकारा मिलने के आसार हैं.

सुबह से सूरज की तपिश

इन दिनों मौसम लगातार साफ बना हुआ है और पश्चिमी हवाएं बह रही हैं. जिसके कारण भीषण गर्मी का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है. सुबह होते ही जबरदस्त तपिश के कारण लोग बेहाल हो जाते हैं. दोपहर में तो तपिश और गर्म हवाओं के कारण दो कदम भी पैदल चलना मुश्किल हो रहा है. यही वजह है कि दोपहर होते-होते लोग घर, ऑफिस और मार्केट में दुबक जाते हैं. मंडे को मौसम का मिजाज और भी सख्त हो गया. पारा 45 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया.

आज मिल सकती है राहत

सीएसए के मौसम वैज्ञानिक डा. अनिरूद्ध दुबे ने बताया कि मैक्सिमम टेम्परेचर 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है. हालांकि ट्यूजडे को मौसम के इस मिजाज से कुछ राहत मिल सकती है. मंगलवार को तेज हवाएं और आंधी आने की संभावना है. इससे टेम्परेचर गिरने के आसार है. वहीं सीएसए के सीबी सिंह ने बताया कि 1985 से अब तक 25 मई को कभी टेम्परेचर 45 के पार नहीं गया है. 2012 में जरूर मैक्सिमम टेम्परेचर 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा था. इससे पहले 1984 में डे टेम्परेचर 47 डिग्री तक पहुंचा था.