बिकी थी छह निविदाएं
एडीए से टोटल छह निविदाएं सेल की गई थी, एक निविदा के लिए एक कंपनी द्वारा एक लाख रुपया खर्च किया गया था. ट्यूजडे को छह कंपनियों में से चार कंपनियों ने अपने टेंडर डाले.
ये रही टेंडर डालने वाली कंपनियां
इनर रिंग रोड को बनाने के लिए एचजीआई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी जयपुर, आईएसटी कंपनी नोएडा, आरडीएस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी दिल्ली व जेकेएम इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी नोएडा ने ट्यूजडे को टेंडर डाले.
25 लाख की जमा कराई एफडी
इनर रिंग रोड में टेंडर डालने वाली कंपनियों से 25-25 लाख रुपए की एफडी करवाई गई. अभी तक केवल चार कंपनियों द्वारा टेंडर डाले गए हैं, जिनकी फाइनेंशियल बिड 31 जनवरी को खोली जाएगी. इसके बाद तय किया जाएगा कि इनर रिंग रोड का काम किस कंपनी को दिया जाना है. इनर रिंग रोड का प्रोजेक्ट लगभग 240 करोड़ रुपए का है.
शिवराज सिंह, अधीक्षण अभियंता एडीए
ट्यूजडे को चार कंपनियों द्वारा टैक्नीकल बिड डाली गई हैं, जिनकी फाइनेंसियल बिड 31 जनवरी को खोली जाएगी. तब बताया जा सकेगा कि इनर रिंग रोड को बनाने की जिम्मेदारी किस कंपनी को दी जाए.