पेट्रोल चुराते चोर को लोगों ने दबोचा, पिटाई के बाद पुलिस को सौंपा

बंदरों को भगाने में लठैत भी फेल, मरीजों में बैठा डर

>Meerut . जिला अस्पताल में इन दिनों चोरी की घटनाएं काफी तेजी से बढ़ रही है. 100 डायल खड़ी होने के बाद भी यहां चोर बेखौफ चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. ऐसा ही एक उदाहरण तब देखने को मिला जब गुरुवार को जिला अस्पताल की पार्किंग में खड़ी बाइक से पेट्रोल चोरी कर रहे एक युवक को धर-दबोचा.

ये है मामला

दरअसल, रोहटा रोड निवासी धर्मेश ने बताया कि उसके भाई रोहित की हड्डी टूट गई थी. उसे यहां फ‌र्स्ट फ्लोर पर बने आर्थो वार्ड में एडमिट है. गुरुवार को करीब 1.30 बजे वह भाई से मिलने अस्पताल आया था. वार्ड में वह और उसके साथी खिड़की के पास खड़े हुए थे. तभी उन्होंने एक व्यक्ति को अपनी बाइक में पाइप लगाकर पेट्रोल निकालते देखा. जिसके बाद वह तुरंत नीचे आया और चोर को धर-दबोचा. शोर मचाने के बाद वहां अन्य लोग भी आ पहुंचे. जिसके बाद एक और बाइक से पेट्रोल चोरी होने की बात भी सामने आई. इसके बाद लोगों ने चोर की खूब पिटाई की और पुलिस के हवाले कर दिया.

प्रयास चालू पर बेकाबू बंदर

जिला अस्पताल प्रशासन चोरों के साथ ही बंदरों को भी काबू नहीं कर पा रहा है. गुरुवार को भी मरीजों में बंदरों का आतंक साफ देखा गया. मेल सर्जिकल वार्ड में एडमिट अमित ने बताया कि बंदर यहां अक्सर मरीजों का सामान लेकर भाग जाते हैं. बंदरों ने वार्ड का शीशा भी तोड़ दिया है. बंदर रात में आते हैं, जिससे यहां सोने में भी डर लगता है. जबकि अस्पताल प्रशासन की ओर से इस वार्ड का दरवाजा बंद रखने के निर्देश भी चस्पा किए गए हैं. साथ ही आईसोलेशन वार्ड में स्टॉफ को लठ भी मंगाकर दिए गए है.

अस्पताल में सिक्योरिटी गार्ड नहीं हैं. प्रशासन को कई बार हम सुरक्षा देने के लिए पत्र लिख चुके हैं.

डॉ. पीके बंसल, एसआईसी, जिला अस्पताल