- टीईटी परीक्षा के पैटर्न में परीक्षा नियामक ने किए बदलाव

- बीटीसी फाइनल इयर वाले प्रशिक्षु दे सकेंगे टीईटी की परीक्षा

<- टीईटी परीक्षा के पैटर्न में परीक्षा नियामक ने किए बदलाव

- बीटीसी फाइनल इयर वाले प्रशिक्षु दे सकेंगे टीईटी की परीक्षा

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सूबे में शिक्षक पात्रता परीक्षा में अब सिर्फ बीटीसी फाइनल इयर के अभ्यर्थियों को ही मौका मिलेगा. जबकि पूर्व में दूसरी व्यवस्था थी. पहले बीटीसी का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे किसी भी सेमेस्टर के प्रशिक्षु इसमें शामिल हो सकते थे. नई व्यवस्था इस बार ख्0क्भ् में आयोजित होने वाली टीईटी परीक्षा से ही लागू हो जाएगी. नियामक परीक्षा प्राधिकारी की ओर से आयोजित होने वाली टीईटी परीक्षा नियमों में बदलाव को लेकर निर्देश जारी कर दिए गए हैं. इस बारे में सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी नीना श्रीवास्तव ने बताया कि ये व्यवस्था इसलिए लागू की गई है, कि टीईटी परीक्षा के दौरान किसी प्रकार की कोई समस्या न उत्पन्न हो सके. उन्होंने बताया कि ख्0क्ब् में टीईटी परीक्षा किन्हीं कारणों से नहीं हो सकी. जबकि इस बार मई में परीक्षा के आयोजन को लेकर तैयारी की जा रही है.

प्राथमिक व उच्च प्राथमिक के लिए होगी परीक्षा

टीईटी परीक्षा में इस बार कई दूसरे बदलाव भी किए गए हैं. इस बार की परीक्षा सिर्फ प्राथमिक व उच्च प्राथमिक कैटेगरी में आयोजित होगी. जबकि पहले भाषा प्राथमिक व भाषा उच्च प्राथमिक कैटेगरी में भी टीईटी की परीक्षाएं आयोजित की जाती थीं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भाषा प्राथमिक व भाषा उच्च प्राथमिक टीईटी परीक्षा की व्यवस्था निरस्त कर दी गई है. गौरतलब है कि ख्0क्फ् के बाद सूबे में टीईटी परीक्षा का आयोजन नहीं हो सका. उधर भाषा प्राथमिक व भाषा उच्च प्राथमिक टीईटी के अन्तर्गत उर्दू, अंग्रेजी व संस्कृत भाषाओं को लेकर होने वाली परीक्षाएं शामिल थीं, जिस पर कोर्ट ने रोक लगा दी थी.