कानपुर। क्रिकेट का इतिहास काफी पुराना है। पिछले एक सदी में 22 गज की पिच पर न जाने कितने ऐतिहासिक और चर्चित मैच खेले गए। इसमें कुछ मुकाबले हमेशा के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गए। ऐसा ही एक मुकाबला आयोजित हुआ था 18 फरवरी 1986 को, यह मैच इंग्लैंड बनाम वेस्टइंडीज के बीच खेला गया था। जिसमें जीत-हार से ज्यादा मैदान में कैरेबियाई गेंदबाजों की खौफ सुर्खियों में रही। खासतौर से जब इंग्लिश बल्लेबाल माइक गेटिंग बीच मैच में लहुलुहान हो गए तो हर कोई सकते में रह गया। पढि़ए क्या था पूरा मामला।

साल 1986 में खेला गया था सबसे डरावना मैच

साल 1986 की बात है, इंग्लिश टीम चार मैचों की वनडे सीरीज खेलने वेस्टइंडीज दौरे पर गई थी। सीरीज का पहला मैच किंग्सटन के सबीना पार्क में आयोजित किया गया। उस वक्त इंग्लैंड की टीम की कमान डेविड गोवर के हाथों में थी वहीं मेजबान टीम की अगुआई सर विवियन रिचर्ड्स कर रहे थे। रिचर्ड्स ने टॉस जीतकर मेहमान इंग्लैंड को पहले बैटिंग का न्यौता दिया। इंग्लिश टीम की तरफ ये ग्राहम गूच और राबिंनसन ओपनिंग करने आए, मगर राबिनसन चार गेंदें खेलकर बिना रन बनाए पवेलियन लौट गए। इसके बाद कप्तान गोवर भी डक आउट का शिकार बने। अब क्रीज पर थे माइक गेटिंग जोकि उस वक्त अच्छी फॉर्म में चल रहे थे। इंग्लैंड के फैंस को लगा कि गेटिंग टीम को मुश्किल परिस्थितियों से निकाल लेंगे मगर फिर वो हुआ, जिसकी किसी ने कल्पना नहीं की थी।

पिच पर बिखरा पड़ा था खून

दाएं हाथ के इंग्लिश बल्लेबाज माइक गेटिंग अभी 10 रन बनाकर खेल ही रहे थे कि उनका सामना हुआ कैरेबियाई गेंदबाज मॉलकम मार्शल से। मार्शल उस वक्त सबसे खतरनाक वेस्टइंडीज तेज गेंदबाज थे। इसके बावजूद गेटिंग बिना वाइजर का हेलमेट पहने मैदान में उतरे थे। तभी मार्शल की एक उछाल लेती गेंद पर हुक शॉट लगाने के चक्कर में गेंद गेटिंग की नाक में लगी। यह बॉल इतनी तेजी थी कि, नाक से बॉल टकराते ही गेटिंग के हाथ से बल्ला छूट गया, हालांकि बाद में गेंद टप्पा खाकर स्टंप में जा टकराई मगर उस वक्त विकेट की खुशी से ज्यादा मैदान में दहशत थी क्योंकि नाक में चोट लगने के बाद गेटिंग जमीन पर गिर पड़े और उसके बाद पिच पर खून ही खून बिखरा पड़ा था।

गेंद में धंस गई थी हड्डी

आनन-फानन गेटिंग को मैदान से बाहर निकाला गया और उनकी नाक का स्कैन किया गया। जांच में पता चला कि उनकी नाक की हड्डी टूट गई थी। यह हादसा इतना डरावना था कि गेटिंग के बाद बैटिंग करने आए बल्लेबाज दहशत में आ गए थे। गेटिंग के चोटिल होने की वजह बने मार्शल ने बाद में एक और खुलासा करके सबको डरा दिया था। मार्शल का कहना था इस हादसे के बाद वह जब दोबारा बॉलिंग करने गए तो उन्होंने देखा कि गेंद पर गेटिंग की नाक की टूटी हड्डी का एक छोटा सा टुकड़ा धंसा हुआ था जिसे उन्होंने निकालकर अलग फेंक दिया था।

छह विकेट से मैच हार गया था इंग्लैंड

अपने स्टार खिलाड़ी के चोटिल होने के बाद इंग्लैंड मैच में दोबारा वापसी नहीं कर सका। इंग्लिश टीम ने पहले खेलते हुए निर्धारित 46 ओवर में 145 रन बनाए थे। जवाब में वेस्टइंडीज ने 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया और छह विकेट से जीत दर्ज की। मार्शल ने इस मुकाबले में 4 विकेट लिए जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk