PATNA : स्कूल, कॉलेज में पढ़नेवाली और कंप्टेटिव एग्जाम की तैयारी कर रही लड़कियों को मोटिवेट करने के काम में सेंट्रल रेंज के डीआईजी शालिन लगातार जुटे हुए हैं. इसी कड़ी में मंगलवार को लफंगों, बदमाशों के खिलाफ लड़कियों को खुलकर लड़ने की सलाह दी.

नाम लिख व्हाट्सएप करें

मंगलवार को डीआईजी शालिन बीएम दास रोड स्थित नारायण प्लाजा पहुंचे थे. जहां पर राजधानी के अलग-अलग ग‌र्ल्स हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करने वाली लड़कियां थीं. मोटिवेशन के तहत उन्होंने साफ किया कि कोई भी बदमाश छेड़खानी करता है तो आप थाने जाएं. वहां बदमाश व लफंगे के खिलाफ कंप्लेन करें. अगर पुलिस वाला आपकी कंप्लेन नहीं लेता है तो बैच पर लिखा उसका नाम मुझे लिखकर भेज दें. लड़कियों के कप्लेन नहीं लेने वाले पुलिस वालों पर कार्रवाई होगी. मौके पर डीआईजी ने लड़कियों से अपना व्हाट्स एप नंबर शेयर किया. कंप्लेन दर्ज नही करने वाले पुलिस वालों की शिकायत सीधे व्हाट्स एप पर मैसेज कर लड़कियां कर सकती हैं.

थानेदार को दी हिदायत

मौके पर मौजूद एक लड़की ने अपनी आपबीती डीआईजी से शेयर की. लड़की ने बताया कि दस दिन पहले उसके साथ एक लफंगे ने बदसलूकी की थी. जिसकी शिकायत करने वो पीरबहोर थाने गई. लेकिन ड्यूटी पर मौजूद पुलिस वाले ने उसकी नहीं सूनी. पुलिस वाले ने पैरेंट्स को बुलाने को लड़की से कहा. लड़की की परेशानी को सुन डीआईजी ने मौके पर मौजूद थानेदार को दोबारा ऐसा नहीं किए जाने की सख्त हिदायत दी.

ताकत का एहसास कराया

दोपहर बाद डीआईजी बिहटा के उड़ेहक ग‌र्ल्स स्कूल पहुंचे. वहां पर भी लड़कियों को उनके ताकत का एहसास कराया. लफंगों के खिलाफ खुलकर लड़ने को कहा. मौके पर लड़कियों ने डीआईजी को राखी बांधी. जिसके बाद डीआईजी ने कहा कि ये लड़कियां अब मेरी बहन है. इनके सुरक्षा की जिम्मेवारी और भी अधिक बढ़ गई है. मौके पर सिटी एसपी वेस्ट सत्य प्रकाश सहित कई मौजूद पुलिस वालों को लड़कियों की सेफ्टी को लेकर कई निर्देश दिए गए.