-आगरा के नोडल अफसर ने विभिन्न विभागों के साथ बैठक कर खंगाली तैयारी

-4 दिन शहर में रुक कर व्यवस्थाएं परख रहे हैं प्रमुख सचिव आलोक कुमार

-अधिनस्थों से कहा, एक मीटर की दूरी का कराएं कड़ाई से पालन

आगरा: कोविड 19 के इलाज और बचाव के इंतजाम खंगालने आगरा पहुंचे नोडल अफसर ने शनिवार को कलक्ट्रेट सभागार में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। प्रदेश के प्रमुख सचिव अवस्थापना आलोक कुमार ने बैठक में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए। साथ ही हॉटस्पॉट क्षेत्रों में हर किसी की थर्मल स्क्रीनिंग कराने पर जोर दिया। प्रमुख सचिव ने कहा कि एक मीटर की शारीरिक दूरी का पालन अनिवार्य रूप से किया जाए।

लगातार बढ़ रहे केस, तनाव में सरकार

बता दें कि आगरा में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या व रोकथाम के उपायों की समीक्षा के लिए शुक्रवार को प्रमुख सचिव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा भेजा। वे 4 दिन शहर में रहकर लॉकडाउन, कोरोना पॉजिटिव के इलाज और क्वॉरंटीन की व्यवस्थाओं को परख रहे हैं। शुक्रवार को कमिश्नरी में बैठक के दौरान उन्होंने पुलिस प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अफसरों से हालात की जानकारी ली थी। उन्होंने आगरा मॉडल के बारे में भी पूछा था। डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि आगरा मॉडल में बेहतर आइसोलेशन और इलाज की व्यवस्था है। उन्होंने बताया कि शहर में नियमित सेनेटाजेशन और मोपिंग हो रही है।

दिनभर चला सैनिटाइजेशन अभियान

डीएम के निर्देश पर शनिवार को शहर में दिनभर सैनिटाइजेशन अभियान चलता रहा। फायर ब्रिगेड ने आगरा के 65 स्थानों पर शनिवार फायर टेंडर से सैनिटाइजेशन किया। अभियान के दौरान हॉटस्पॉट के अलावा उन क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन किया गया जहां से लगातार मांग आ रही थी।

---

3 मई तक नहीं मिलेगी राहत

डीएम ने बताया कि आगरा में लगातार बढ़ रहे कोरोना पेशेंट के मद्देनजर लॉकडाउन 2:0 में कोई राहत नहीं मिलेगी। हॉटस्पॉट एवं शहर के अन्य हिस्सों में आवाजाही पूरी तरह से प्रतिबंधित है। ऐसे में आम जनता से अपील है कि वे घरों में रहें और जिला प्रशासन द्वारा संचालित व्यवस्था के तरह कंट्रोल रूम के नंबर्स पर कॉल करके ग्रासरी, फल-सब्जियां मंगवा सकते हैं। लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है।

---

आगरा मॉडल में बेहतर आइसोलेशन और इलाज की व्यवस्था है। शहर में नियमित सेनेटाजेशन और मोपिंग हो रही है। लगातार आ रहे कोरोना के मरीजों के दृष्टिगत लॉकडाउन में 3 मई तक किसी भी तरह की राहत नहीं दी जा रही है। शहरवासियों से अनुरोध है कि वे किसी की वस्तु को छूने से पहले उसे सैनिटाइज्ड कर लें।

-प्रभु एन सिंह, डीएम, आगरा

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner