- आचार संहिता लागू होने के बाद से पकड़ी जा चुकी है लगभग एक हजार लीटर शराब

- लाइसेंसी वेपन होल्डर्स के जमा होंगे असलहे, सबको नोटिस भेजने की तैयारी

kanpur@inext.co.in

KANPUR : लोकसभा चुनाव से पहले नेता और पॉलिटिकल पार्टियां वोटर्स को रिझाने के लिए हर जोड़-तोड़ में जुटी हुई हैं. आपको जानकर हैरानी होगी, लेकिन आचार संहिता लागू होने के बाद शहर में करीब इलेक्शन ऑफिसर्स ने एक हजार लीटर शराब पकड़ी है.

सवा दो लाख कीमत

राजनैतिक पार्टियों और उनके नेताओं का चुनाव से पहले वोटर्स को अपने पक्ष में वोट डालने की बात नई नहीं है. इस बार भी यह सिलसिला शुरू हो चुका है. इसकी बानगी है, चुनाव से पहले पकड़ी गई सैकड़ों लीटर शराब. एडीएम सिटी अविनाश सिंह के मुताबिक आचार संहिता लागू होने के बाद से लेकर अब तक 9भ्9 लीटर शराब पकड़ी जा चुकी है. इसकी मार्केट वैल्यू ख्,क्भ्,77भ् रूपए बताई गई है.

ख्म् हजार असलहे जमा

शहर में लाइसेंसी लाइसेंसी वेपन होल्डर्स की कुल संख्या ब्ख्,7भ्क् है. इनमें से क्म्,क्8ख् लाइसेंस गवर्नमेंट इम्प्लॉईज के भी शामिल हैं. ऑफिसर्स के अनुसार ख्म्,भ्म्9 लाइसेंसीज के वेपन्स जमा कराने हैं. चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत पुलिस-प्रशासनिक ऑफिसर्स अपने विवेक का इस्तेमाल करके असलहों को जमा करा सकता है. अगर किसी लाइसेंसी होल्डर से कानून-व्यवस्था को खतरा है या अपराध को अंजाम दिया जा सकता है तो ऐसे व्यक्तियों के वेपन्स चुनाव तक जमा कराये जाएंगे.