- पुरानी यादों में खो गए सीनियर सिटीजन

- यूथ्स के लिए एक नया एक्सपीरिएंस

<- पुरानी यादों में खो गए सीनियर सिटीजन

- यूथ्स के लिए एक नया एक्सपीरिएंस

GORAKHPUR: GORAKHPUR: 80 के दशक का मशहूर टीवी सीरियल रामायण शनिवार को फिर से शुरू हो गया। डीडी नेशनल पर सुबह 9 बजे शुरू हुए इस सीरियल का दो दिन से लोग बेसब्री से इंतजार कर रह रहे थे। नौ बजते ही गोरखपुर में लोग टीवी से चिपक गए। कार्टून के दीवाने बच्चों से लेकर सीनियर सिटीजन तक सबने एक साथ बैठकर देखा। और अपने पुरानी यादों में खो गए। पहले दिन एपिसोड को लेकर यूथ्स में जबर्दस्त क्रेज नजर आया तो कईयों को रामायण की धुन तीस साल पूर्व की यादों में खींच ले गई। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट से लोगों ने अपने अनुभव साझा किए।

तब हमारे घर में कलर टेलीविजन नहीं था। रामायण देखने के लिए हम लोग सुबह तैयार हो कर टीवी के सामने बैठ जाते थे। कभी बिजली कट गई तो ऐसा लगता था कि बिजली विभाग वालों ने बड़ा अत्याचार कर दिया। आज हमने जब रामायण का प्रसारण देखा तो पुरानी यादों में चले गए।

रूना देवी, सीनियर सिटीजन

दूरदर्शन का रामायण कैसा था। इसके बारे में सुनती थी। अरुण गोविल और दीपिका के रामायण के अलावा दूसरा रामायण देखा था। लेकिन आज दादी ने बताया कि रामायण आ रहा है। हम लोग भी टीवी के सामने जम गए।

साक्षी, स्टूडेंट

पहले जब रामायण का प्रसारण हो रहा था तो मैं काफी छोटा था। मुझे हनुमान जी की पूंछ में आग लगाने का सीन याद है। बाकी कुछ ज्यादा याद नहीं आता है। लेकिन लॉकडाउन में मुझे अच्छा मौका मिला है। अब फिर से इसे देख सकूंगा।

विकास, प्रोफेशनल्स

हमने सुबह 9 बजे से रामायण का प्रसारण दूरदर्शन पर देखा। एक घंटा कैसे बीत गया, पता ही नहीं चला। हमारी सभ्यता और संस्कृति हमें जीने की राह सिखाती है। ऐसे दर्शन के तत्व हमारे धार्मिक पुस्तकों में हैं। हम अध्ययन नहीं कर पा रहे हैं। इसके पुन प्रसारण के लिए मैं आभार जताता हूं।

प्रमोद तिवारी, प्रिंसिपल

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner