RANCHI : सरकार एक तरफ स्टेट में स्पो‌र्ट्स को बढ़ावा देने की बात करती है और दूसरी तरफ खेल के स्टेडियम की हालत पर उसका ध्यान नहीं जाता है. बात यहां शूटिंग स्टेडियम की हो रही है, जिसकी स्थिति ऐसी नहीं है कि प्लेयर इस रेंज का इस्तेमाल कर सकें. करोड़ों की लागत से बना ट्रैप शूटिंग रेंज तो और भी बदहाल है.

ट्रैप शूटिंग रेंज में पानी, नहीं हो रही सफाई

खेल गांव स्थित शहीद टिकैत उमराव शूटिंग रेंज प्रैक्टिस के लिए ओपेन कर दिया गया है. प्लेयर्स यहां हर दिन प्रैक्टिस भी करने आ रहे हैं. यहां क्8 सितंबर से ईस्ट जोन और स्टेट चैंपियनशिप का आयोजन किया जाना है. लेकिन, भ्0 मीटर शूटिंग रेंज के कई पिलर को दीमक ने अपना निशाना बना लिया है. वहीं, इसके बगल में ट्रैप शूटिंग के लिए बनाए गए स्पेशल रेंज की स्थिति तो और भी खराब है. यहां जिस जगह से ट्रैप के लिए प्लेट छोड़ी जाती है, उसमें पानी भरा हुआ है. इसे साफ करने के लिए अभी तक कोई उपाय नहीं किया गया है. ट्रैप शूटिंग रेंज की कोई देखरेख नहीं की जाती है. फ्ब्वें नेशनल गेम्स में इस रेंज में नवीन जिंदल ने शूटिंग की थी. इसके बाद न तो यहां कोई इवेंट हुआ और न ही इसकी साफ-सफाई करवाई गई. इसके कारण यहां के ग्राउंड में लंबी-लंबी घास उग आई है और पानी भी भर गया है. रेंज की सिक्योरिटी पर भी सरकार का ध्यान नहीं है. यहां सिक्योरिटी के लिए सिर्फ एक गार्ड की नियुक्ति की गई है.

छिन गई ट्रैप शूटिंग चैंपियनशिप की मेजबानी

इस ट्रैप शूटिंग रेंज में ईस्ट जोन ट्रैप शूटिंग चैंपियनशिप का आयोजन किया जाना था, लेकिन इसके लिए जब ऑफिशियल ने यहां की स्थिति देखी, तो इस चैंपियनशिप को यहां कराने से मना कर दिया. यह इंटरनेशनल लेवल के इस स्टेडियम को नेशनल गेम्स के बाद इस लेवल के टूर्नामेंट की मेजबानी का पहला मौका मिला था.