-सोमवार की शाम को रात को महसूस किया गया भूकंप

मेरठ : नेपाल में जलजले के बाद से धरती के डोलने का सिलसिला जारी है. सोमवार को नेपाल व देश के अन्य हिस्सों के साथ मेरठ में भी शाम से रात के बीच दो हल्के झटके लगे. हालांकि पूर्व के दिनों की तुलना में इनका असर काफी कम था. सोमवार की शाम छह बजकर छह मिनट पर नेपाल और पश्चिम बंगाल भूकंप का अधिकेंद्र बना और इसकी तीव्रता 5.1 रही जबकि दूसरा झटका रात लगभग साढ़े नौ बजे महसूस किया गया, हालांकि तीव्रता बेहद कम 4.1 आंकी गई. नेपाल में जलजले के बाद से ही मेरठ के लोग भी खौफजदा हैं. लगातार वे संवाद माध्यमों और इंटरनेट के जरिए सूचना लेते रहे. लगातार भूकंप की आशंका बने रहने के क्रम में मंगलवार को भी जिला प्रशासन ने 12वीं तक के सभी स्कूलों की छुट्टी की घोषणा कर रखी है. शनिवार और रविवार की तुलना में सोमवार को भूंकप के झटके बेहद हलके होने की वजह से अधिकांश लोगों को पता नहीं चला जिस वजह से पूर्व के दो दिनों की तुलना में अफरातफरी भी कम रही. हालांकि भूकंप का क्रम न टूटने के डर से लोगों के बीच भय का माहौल बना हुआ है.