- बीडीए वीसी ने की बड़ी कार्रवाई, जांच में मिली करोड़ों की गड़बड़ी

- राजस्व हानि पहुंचाने पर कानूनी कार्रवाई के लिए शासन को भेजा पत्र

बरेली : शहर में हो रहे अवैध निर्माण पर कार्रवाई का दौर शुरू हो गया है. फ्राईडे को बीडीए वीसी ने आईवीआरआई रोड पर बन रहे ट्यूलिप ग्रेस टॉवर को सील कर दिया. वहीं कई विभागीय अफसरों की भूमिका संदिग्ध पाए जाने पर शासन को कार्रवाई के लिए पत्र भेजा है.

.. तो अफसरों ने ही कर दिया खेल

बीडीए वीसी ने अपने स्तर से ट्यूलिप ग्रेस टॉवर के मैप की जांच के लिए टीम गठित की थी. इस टीम की कमान सीनियर इंजीनियर आरके जायसवाल को सौंपी गई. जब मैप संबंधी जांच की तो पाया कि विभागीय अफसरों ने ही मानक के विपरीत नक्शा पास कर दिया. मामले की रिपोर्ट बीडीए वीसी के सामने प्रस्तुत की गई जिसके बाद फ्राईडे को टॉवर को सील कर अफसरों के खिलाफ कार्रवाई को शासन को पत्र भेजा गया है.

बीडीए को 4 करोड़ की चपत

सीनियर इंजीनियर की ओर से की गई जांच की बात करें तो टॉवर का जो नक्शा पास कराकर विभागीय अफसरों ने खेल किया है. इससे बीडीए को करीब 4 करोड़ के राजस्व की हानि हुई है, जिस कारण अफसरों पर गाज गिराई गई है.

इन अफसरों की भूमिका संदिग्ध

तत्कालीन मुख्य नगर नियोजक शिवपुरी, जेई पीके गुप्ता और एक्सईएन जहीरुद्दीन, एक्सईएन मोहन लाल पर नियमानुसार कार्रवाई को शासन को पत्र भेजा गया है.

नोटिस का नही दिया जवाब

बीडीए की ओर से टॉवर के ओनर्स को कई बार मैप संबंधी खामियों को दूर कराने के लिए पत्र भेजा गया लेकिन उन्होने नोटिस का जवाब देना भी जरूरी नही समझा जिसके बाद ही बीडीए ने मामले की जांच कराने को टीम गठित की.

बुक हो गए थे 50 फ्लैट

भ्रष्ट अधिकारियों की मिलीभगत और बिल्डर्स के खेल का खामियाजा यहां फ्लैट बुक कराने वालों को भुगतना पड़ रहा है. ट्यूलिप ग्रेस में 90 फ्लैट्स बनकर तैयार हो गए हैं वही कई निर्माणाधीन हैं. हैरत की बात तो यह है कि यहां 50 लोगों ने फ्लैट्स की बुकिंग भी करा ली है. अब टॉवर सील हो जाने के बाद इन 50 लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा.

कांउसिल ऑफ आर्किटेक्ट को भी भेजा पत्र

टॉवर का नक्शा बनाकर बीडीए में पास कराने के लिए आर्किटेक्ट नवीन सिंघल ने पेश किया था. अब इन पर कार्रवाई के लिए बीडीए वीसी ने काउंसिल ऑफ आर्किटेक्ट को भी पत्र भेजा है.

Posted By: Inextlive