-संडे को भी ओपन रही ओपीडी

BAREILLY :

डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में भले ही बुखार के भर्ती मरीजों की संख्या में कमी आ रही है, लेकिन इसके बाद भी ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. वहीं बुखार की वजह से मरने वालों की भी संख्या रोज-रोज बढ़ते ही जा रही है. इसके साथ ही शहर में प्लाजमोडियम फाल्सीपेरम और डेंगू का डर लोगों को सताने लगा है. हॉस्पिटल आने वाले मरीजों को ओपीडी पर्चा काउंटर और दवा काउंटर पर लम्बी लाइन लगानी पड़ रही है.

बुखार से युवक की मौत

भोजीपुरा के गांव गोपालपुर निवासी राजपाल की संडे को मौत हो गई. परिजनों ने बताया कि राजपाल को दस दिन से बुखार आ रहा था. हालत बिगड़ी तो डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट कराया, लेकिन हालत में सुधार नहीं हुआ. जिसके बाद परिजनों नें निजी हॉस्पिटल में ले गए. वहां पर भी कोई फायदा नहीं हुआ तो परिजन घर ले गए. जहां पर उनकी मौत हो गई.

बहेड़ी में बुखार से एक मौत

बहेड़ी के गांव ¨पदारी अशोक निवासी भोलाराम 55 वर्ष की बुखार से सैटरडे रात को मौत हो गई. परिजनों ने बताया कि भोलाराम को थर्सडे से बुखार आ रहा था. निजी हॉस्पिटल में डॉक्टर्स ने दिमागी बुखार बताया था. वह सैटरडे को भी हॉस्पिटल से दवा लेकर आए थे रात को हालत बिगड़ी और उनकी मौत हो गई. परिजन उन्हें हॉस्पिटल ले जाते इससे पहले ही उनकी मौत हो गई.