-तेलियरगंज कैंट में तैनात था सेना का जवान, सिपाही की मेजा फायर स्टेशन में थी पोस्टिंग

-जौनपुर जनपद के हैं दोनों निवासी बीमारी बताई गई दोनों के मौत का कारण

PRAYAGRAJ: गुनाह और गुनहगारों से लड़ रहे सेना व फायर ब्रिगेड के जवान की बीमारी दुश्मन बन गई. बीमारी दोनों को इस कदर जकड़ी कि जान लेकर ही मानी. दोनों की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया. पुलिस व सेना के अधिकारियों ने दोनों का पोस्टमार्टम कराया. इसके बाद शव को उनके परिजनों को सौंप दिया गया.

सिपाही की मौत पर कोहराम

जौनपुर जिले के मुंगराबादशाहपुर एरिया के इटहरा गांव निवासी ओम प्रकाश सरोज (53) मेजा थाना के फायर स्टेशन पर सिपाही के पद पर तैनात थे. बताते हैं कि दो दिन पूर्व वह किसी विभागीय काम से शहर आए हुए थे. लौट कर फायर स्टेशन पहुंचे तो उनकी तबीयत खराब हो गई. वह स्वयं शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे. डॉक्टरों ने जांच कराने के लिए लिखा. जांच रिपोर्ट आती उसके पहले ओम प्रकाश की बीमारी ने जान ले ली. वह चार भाइयों में दूसरे नंबर पर थे. भाई के मौत की खबर सुनते ही पहुंचे राधेश्याम ने बताया कि उनके तीन पुत्र व तीन पुत्रियां व पत्‍‌नी निर्मला देवी का रो-रो कर बुरा हाल है.

सेना के नायक ने भी तोड़ा दम

जौनपुर जिले के ही केराकत एरिया स्थित नारायण पुर बैरियर गांव निवासी हवलदार यादव (40) पुत्र शियाराम यहां तेलियरगंज कैंट में नायक के पद पर तैनात थे. बताते हैं कि सोमवार की शाम वह कैंट से रेलवे स्टेशन गए हुए थे. लौट कर पहुंचे तो उनकी तबीयत खराब हो गई. साथी जवान उन्हें अस्पताल ले गए. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. मोबाइल में मौजूद नंबरों से उनके परिजनों को सूचना दी गई. पोस्टमार्टम के बाद सेना के जवान शव को लेकर उनके गांव के लिए रवाना हो गए.