लंदन (रॉयटर्स)। अमेरिका में ब्रिटेन के राजदूत ने किम डैरोच ने हाल ही में लंदन भेजे गए गोपनीय संदेशों में ट्रंप प्रशासन को अनाड़ी और अयोग्य कह दिया था। उन गोपनीय संदेशों के सार्वजनिक होने के बाद दोनों देशों के बीच विवाद शुरू हो गया। इस पर ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने बुधवार को कहा, 'डोनाल्ड ट्रंप के साथ बढे राजनयिक विवाद के बाद ब्रिटेन को अब फिर से अमेरिका के साथ संबंध को मजबूत करने की आवश्यकता है।' उन्होंने बीबीसी रेडियो के साथ बातचीत में यह भी कहा, 'हमें व्हाइट हाउस के साथ उन संबंधों को फिर से स्थापित करना चाहिए जो वास्तव में एक व्यक्ति से बड़ा है। इससे दोनों देशों को फायदा होगा।'

पाकिस्तान में न्यूज एंकर और उसके दोस्त की गोली मारकर हत्या, बाद में संदिग्ध ने खुद को भी मारी गोली

खराब स्थिति में ट्रंप का करियर

गौरतलब है कि डैरोच ने लंदन भेजे गए अपने गोपनीय संदेशों में लिखा था कि राष्ट्रपति ट्रंप का करियर बेहद खराब स्थिति में समाप्त हो सकता है। व्हाइट हाउस के अंदर इन दिनों भारी विवाद चल रहा है। हमें नहीं लगता कि ट्रंप प्रशासन सामान्य से कुछ ज्यादा कर पाएगा। कूटनीतिक मामलों में यह प्रशासन अनाड़ी और अयोग्य है।' ये गोपनीय ईमेल संदेश रविवार को एक अखबार में प्रकाशित हुए थे। इन संदेशों पर पूछे गए सवालों पर ट्रंप ने कहा, 'उन्होंने मैसेज को पढ़ा नहीं है लेकिन राजदूत डैरोच के आचरण से यह बता सकते हैं कि वह ब्रिटेन के लिए ठीक से अपना काम नहीं कर रहे हैं। हम ऐसे आदमी को अच्छा नहीं मानते। उनकी बातों से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है।'

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk