नई दिल्ली (पीटीआई)। उन्नाव दुष्कर्म मामले में एम्स के जयप्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर में बुधवार को पीड़िता के बयान दर्ज होने हैं। जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा भी पीड़िता के बयान दर्ज करने हेतु अस्थाई अदालत में पहुंच गए हैं। वहीं इस मामले के भाजपा से निष्कासित आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व उसके साथ सह-आरोपी शशि सिंह को भी एम्स लाया गया है।

अस्थाई अदालत बनाने के निर्देश दिए

बीते शनिवार को न्यायाधीश ने पीड़िता के बयान दर्ज करने के लिए एम्स के जय प्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर में एक अस्थायी अदालत बनाने के निर्देश दिए थे। पीड़िता को यहां 28 जुलाई को एक दुर्घटना के बाद भर्ती कराया गया था। हाई कोर्ट ने इस मामले में शुक्रवार को परमीशन देने के साथ प्रशासनिक पक्ष से एक अधिसूचना जारी की थी। हाई कोर्ट से जारी अधिसूचना के मुताबिक मामले की सुनवाई कर रहे विशेष न्यायाधीश धर्मेश शर्मा पीड़िता के बयान दर्ज करेंगे।

उन्नाव कांड : CBI ने माखी थाने में दर्ज किए पांच गवाहों के बयान

विधायक पर दुष्कर्म करने का आरोप

बता दें कि पीड़िता ने 2017 में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर कथित तौर पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। जिस वक्त उसके साथ हादसा हुआ था वह नाबालिग थी। वहीं बीती 28 जुलाई को यूपी के रायबरेली में हुए सड़क हादसे में पीड़िता की मौसी और चाची दोनों की मौत हो गई थी। वहीं पीड़िता और उसका वकील भी घायल हो गया था। पीड़िता का एम्स में उपचार हो रहा है।

उन्नाव दुष्कर्म मामला : ट्रक ड्राइवर और क्लीनर से नहीं मिला कोई सुराग

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk